राहुल को गिरफ्तार किया तो कांग्रेस कार्यकर्ता भर देंगे देश की जेलें : डोटासरा

जयपुर। राजस्थान में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने केन्द्र की मोदी सरकार पर देश में तानाशाहीपूर्ण तरीके से शासन करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि यदि उसने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को गिरफ्तार करने की कुचेष्टा की तो कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तारियां देकर देशभर की जेलें भर देंगे।

डोटासरा आज प्रदेश कांग्रेस के पार्टी नेता राहुल गांधी को प्रवर्तन निदेशालय के समन के विरोध में यहां किए गए प्रदर्शन को संबोधित करते हुए आज यह बात कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं कांग्रेस नेता राहुल गांधी को नोटिस देकर केन्द्र सरकार ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के स्वाभिमान को ललकारा है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के किसी भी अत्याचार से कांग्रेस कार्यकर्ता नहीं डरेंगे तथा चाहे लाठी खानी पड़े अथवा जेल जाना पड़े कांग्रेस कार्यकर्ता राहुल गांधी के साथ मजबूती के साथ इंसाफ की लड़ाई लड़ने के लिए खड़े रहेंगे। उन्होंने कहा कि यदि केन्द्र सरकार ने झूठे मुकदमें में राहुल गांधी को गिरफ्तार करने की कुचेष्टा की तो कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तारियां देकर देशभर की जेलें भर देंगे।

उन्होंने कहा कि गत आठ वर्ष से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं उनकी सरकार देश में तानाशाहीपूर्ण तरीके से शासन कर रहे हैं और देश की राजनीति का दुर्भाग्य है कि फासिस्टवादी ताकत केन्द्र में नीति निर्धारण कर रही है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के आम चुनावों में जनता से जो वादे भाजपा ने किये थे, सत्ता में आने के पश्चात् उनका लेखा-जोखा अथवा हिसाब भाजपा सरकार जनता के बीच नहीं रख रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता से किये वादे को पूरा करने की बजाए किसानों के स्वाभिमान पर चोट करने एवं विरोधी नेताओं के विरूद्ध षड़यंत्र के तहत झूठे मुकदमें दर्ज करने का कार्य किया।

उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र सरकार ने वादे के मुताबिक न तो युवाओं को रोजगार दिया, न किसानों की आय दुगुनी की, न ही देश की सीमाओं को सुरक्षित किया, न महामारी काल में जनता की रक्षा की और न ही केन्द्र सरकार ने बच्चों को शिक्षित करने पर किसी प्रकार का ध्यान दिया है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार का कर्तव्य था कि गांव-ढाणी में बैठे आमजन को राहत प्रदान करने, किसानों की आय दुगुनी करने, देश में सामाजिक समरसता बनाने के लिए संवैधानिक संस्थाओं का उपयोग करते जिससे इन संस्थाओं की साख में बढ़ोत्तरी होती।

उन्होंने कहा कि केन्द्र में सरकार बनाते ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भूमि अधिग्रहण बिल में संशोधन कर किसानों के हितों को विपरीत रूप से प्रभावित करने का प्रयास किया तथा दूसरे कार्यकाल में तीन काले कृषि कानून लागू कर किसानों के साथ छलावा किया।

उन्होंने कहा कि मोदी ने देश में नोटबंदी लागू करने के तीन कारण बताए थे लेकिन नोटबंदी के पश्चात न तो भ्रष्टाचार समाप्त हुआ, न कालाधन देश में वापस आया और न ही आतंकवाद समाप्त हुआ। इसी तरह न तो किसानों की आय दुगुनी हुई, न सामाजिक समरसता कायम रह सकी और न ही महिलाओं एवं युवाओं के उत्थान के लिए कोई योजना केन्द्र सरकार ने बनाई किन्तु इन मुद्दों पर भाजपा जवाब नहीं देती है।

डोटासरा ने कहा कि आज देश का वातावरण खराब किया जा रहा है, जनता भयभीत है, केन्द्र सरकार द्वारा चुन-चुन कर विपक्षी नेताओं के विरूद्ध साजिश के तहत् झूठे मुकदमें दर्ज किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा जनता की निजता के अधिकार का हनन किया जा रहा है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा किये जा रहे असंवैधानिक कार्यों के कारण देश को बड़ी हानि उठानी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि जिन राज्यों में भाजपा की सरकार है वहां पर सब ठीक चलता है किन्तु जिन राज्यों में भाजपा के अलावा अन्य किसी दल की सरकार है, वहां पर सरकार गिराने का षडय़ंत्र किया जाता है तथा यदि राजस्थान की तरह सरकार गिराने के षड़यंत्र में भाजपा सफल नहीं हो सकी तो वह साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ कर सामाजिक समरसता को बिगाडऩे का कार्य करती है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार का सामना करने की ताकत किसी क्षेत्रीय दल में नहीं है और केवल कांग्रेस पार्टी ही मोदी सरकार की दमनकारी नीतियों के विरूद्ध संघर्ष कर सकती है।

कांग्रेसी प्रदर्शन लोकतंत्र नहीं, गांधी परिवार की गैरकानूनी संपत्ति बचाने का प्रयास : भाजपा