घरेलू शेयर बाजार में चौथे दिन रही तेजी

मुंबई। विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों के बीच एक्सिस बैंक के शेयरों मेें रही तेजी और धातु, रिएल्टी तथा बैंकिंग समूह में हुई लिवाली के दम पर घरेलू शेयर बाजार लगातार चौथे दिन बढ़त में बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 91.71 अंक की तेजी में 33,880.25 अंक पर आैर एनएसई का निफ्टी 22.90 अंक की तेजी में 10,402.25 अंक पर बंद हुआ।

एक्सिस बैंक की मौजूदा प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी शिखा शर्मा का कार्यकाल तीन साल पहले ही दिसंबर 2018 में खत्म किए जाने की खबरों से बैंक के शेयरों में सर्वाधिक 5.43 प्रतिशत का उछाल रहा। बैंक के निदेशक मंडल ने शर्मा का नया कार्यकाल तीन साल से घटाकर सिर्फ सात महीने कर दिया है।

शर्मा ने खुद ही निदेशक मंडल से अपना कार्यकाल घटाने का अनुरोध किया था। उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक ने शर्मा को सीईओ बरकरार रखे जाने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की थी। बैंक के शेयरों में रही तेजी के दम पर बैंकिंग समूह का सूचकांक भी 0.93 फीसदी बढ़त में रहा।

उधर विदेशी बाजारों में भी माहौल सकारात्मक है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कार सहित कई उत्पादों के आयात शुल्क में कटौती की बात की है जिससे एशियाई बाजारों में बढ़त दर्ज की गयी है। अमेरिका और चीन के बीच जारी तनातनी के बीच श्री जिनपिंग का यह बयान निवेशकों के लिए राहत भरा साबित हुआ है।

उन्होंने कहा है कि विदेशी निवेशकों की चीन के बाजार पहुंच बढाने की दिशा में कदम उठाये जायेंगे, वाहन क्षेत्र में विदेशी कंपनियों के मालिकाना हक की सीमा बढायी जायेगी और विदेशी कंपनियों के बौद्धिक संपदा की रक्षा की जायेगी। अमेरिका और चीन के बीच बौद्धिक संपदा को लेकर काफी तल्खी है और ऐसे समय में चीन के राष्ट्रपति का यह रुख शेयर बाजार के लिए सकारात्मक रहा है।

वैश्विक तेजी के साथ सेंसेक्स की शुरूआत भी मजबूत हुई और यह बढ़त के साथ 33,880.11 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 33,949.98 अंक के उच्चतम और 33,813.30 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.27 फीसदी के उछाल के साथ 33,8800.25 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 17 कंपनियां हरे निशान में और 13 लाल निशान में रहीं।

निफ्टी की शुरुआत भी तेजी के साथ 10,412.90 अंक से हुई। कारोबार के दौरान 10,424.85 अंक के उच्चतम और 10,381.50 अंक के निचले स्तर से होता हुआ यह गत दिवस की तुलना में 0.22 फीसदी की बढ़त के साथ 10,402.25 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 26 कंपनियां तेजी में आैर 24 गिरावट मेंं रहीं।

दिग्गज कंपनियों की तुलना में मंझोली कंपनियों में कम लिवाली हुई जबकि छोटी कंपनियों में बिकवाली देखी गयी। बीएसई का मिडकैप 0.18 फीसदी यानी 30.70 अंक की तेजी में 16,653.09 अंक पर आैर स्मॉलकैप 0.02 फीसदी यानी 3.57 अंक की गिरावट में 17,947.83 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई में कुल 2,840 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,430 में गिरावट और 1,274 में तेजी रही जबकि 136 कंपनियों के शेयर उतार-चढाव के बाद अपरिवर्तित बंद हुए।

विदेशी बाजारों में तेजी का रुख रहा। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.46 और जर्मनी का डैक्स 1.11 फीसदी की तेजी में खुला। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.54, हांगकांग का हैंगशैंग 1.65, दक्षिण कोरिया का काेस्पी 0.27 और चीन का शंघाई कंपोजिट 1.67 फीसदी की तेजी में रहा।

बीएसई के 20 समूहों में से चार समूहों के सूचकांक गिरावट में रहे। सीडीजीएस में 0.35, एफएमसीजी में 0.02, स्वास्थ्य में 0.05 और ऑटो में 0.65 फीसदी की गिरावट रही। सर्वाधिक 2.00 फीसदी की तेजी धातु समूह के सूचकांक में रही।

इसके अलावा पीएसयू में 0.48, रिएल्टी में 1.25,बैंकिंग में 0.93,पूंजीगत वस्तुओं में 1.08, बेसिक मैटेरियल्स में 0.76, ऊर्जा में 0.18, वित्त में 0.21, इंडस्ट्रियल्स में 0.42, आईटी में 0.32, दूरसंचार में 0.18, यूटिलिटीज में 0.18,सीडी में 0.17, तेल एवं गैस में 0.02,बिजली में 0.38 और टेक में 0.31 फीसदी की तेजी रही।

सेंसेक्स में सबसे अधिक तेजी एक्सिस बैंक के शेयरों में रही। बैंक के शेयर 5.43 फीसदी उछल गये।आईसीआईसीआई बैेक के शेयर 2.78, अदानी पोटर्स के 2.75, टाटा स्टील के 2.58, कोल इंडिया के 2.20, एल एंड टी के 1.68,भारतीय स्टेट बैंक के 1.04, भारती एयरटेल के 1.01, यस बैंक के 0.98, ओएनजीसी के 0.90, टीसीएस के 0.37, विप्रो के 0.35, पावर ग्रिड के 0.31, इंफोसिस के 0.29, आईटीसी के 0.15, हिंदुस्तान यूनीलीवर के 0.15 और रिलायंस के 0.04 फीसदी चढ़ गए।

टाटा मोटर्स के शेयरों में सबसे अधिक 1.37 फीसदी की गिरावट रही। इसके अलावा महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयरों के भाव 1.02, हीरो मोटाकॉर्प्स के 1.01, एचडीएफसी बैंक के 1.00, एचडीएफसी के 0.65, कोटक बैंक के 0.62, सन फार्मा के 0.56, डॉ रेड्डीज के 0.45,एनटीपीसी के 0.44, मारुति के 0.34, बजाज ऑटो के 0.33 और एशियन पेंट्स के 0.24 फीसदी लुढ़क गए।