व्रत के दौरान ऐसे बनाये विशेष रेसीपी

माँ दुर्गा की आराधना के लिए नवरात्रि का विशेष महत्व हैं । इन 9 दिनों में व्रत रखें जाते हैं । कुछ भक्तगण 9 दिन बिना आहार ग्रहण किये देवी माँ की आराधना करते हैं । कुछ श्रद्धालु दिन में एक बार आहार ग्रहण करते हैं । ऐसे में व्रत के दौरान फल, दूध या अन्य आहार भी ग्रहण सकते हैं । व्रत के दौरान कुछ ऐसी रेसिपी के बारे में बताने वाले हैं तो आइए जानें
1) साबुदाणे की खीर :
आवश्यक सामग्री :
  1) छोटे साबुदाना- 3/4 कप
  2) दुध फुल क्रिम- 1 लिटर
  3) चीनी- 75-100 ग्रॅम
  5) काजू, किशमिश और पिस्ते( छोटे तुकडे)
  6) इलायची पावडर
बनाने की विधी :
1) एक बर्तन में दूध गरम करे। जब दूध में उबाल आ जाए तक इसमें भीगे हुए साबुदाने डाले और लगातार हुए पकाए। जब दुध उबल जाए तब गैस धीमी कर दे।
2) अब इसमें काजू किशमीश डाले। खीर को बराबर चलाते रहे अन्यथा यह तले से जल सकता हैं। जब खीर गाढी दिखने लगे और साबुदाणा नरम हो जाए तब उसमें शक्कर मिलाये और 5 मिनटके लिए हल्की आचपर छोड दिजिए। 5 मिनट बाद गैस बंद करके इसमें इलायची पावडर डाले एवं पिस्ते से सजकर सर्व करे।
नोटः  अगर आप साबुदाने को दुध में डालने के बाद चलाएंगे  तो दुध फटने का डर बना रहता हैं।
2) आलू का हलवा 
आवश्यक सामग्री :
1) आलू-4 नग ( उबला हुआ)
2) शक्कर –  2 बडे चम्मच
3) देशी घी- 2 बडे चम्मच
4) बादाम- 1 बडा चम्मच ( कटे हुए)
5) काजू- 1 बडा चम्मच ( कटे हुए)
6)  इलायची पावडर –  1 छोटा चम्मच
बनाने की विधी :
1.) हलवा बनाने के लिए सबसे पहले उबले हुए आलूओं को छीलकर अच्छी तरह से कद्दुकस कर ले। अब एक कढाही में देशी घी डालकर गरम करे। घी गरम होनेपर उसमें कद्दुकस किए हुए आलू डाले और अच्छी तरह से भून ले।
2.) इसके बाद कढाही में शक्कर कतरे हुए काजू बादाम और  किशमिश व इलायची पावडर डाले एवं 2 मिनट तक चलाते हुए पकाए।
3.) मिश्रण  को चम्मच से  बराबर  चलाते  रहे, नहीं तो कढाई में नीचे की और जल जाएगा। 2 मिनट बाद गँस बंद कर दे।
लिजिए आपकी आलू का हलवा बनाने की विधी पूर्ण  हुई। अब आपका आलु का  हलवा तैयार हैं। इसे बाउल में निकाले  और गरम गरम टेस्ट करे ।