राजगढ़ धाम पर नवरात्रा मेला महोत्सव व छठ मेला स्थगित

अजमेर। श्री मसाणिया भैरव धाम पर इस बार शारदीय नवरात्रा में किसी भी प्रकार का कोई आयोजन नहीं होगा।

राजगढ धाम के प्रवक्ता अविनाश सेन ने बताया कि मंदिर कमेटी की संयुक्त बैठक में यह निर्णय लिया गया कि शारदीया नवरात्र महोत्सव व विशाल छठ मेला स्थगित रहेगा और धाम पर श्रद्धालुओं के लिए कोई आयोजन नहीं होगा।

शारदीय नवरात्र घट स्थापना पर मुख्य उपासक चंपालाल महाराज द्वारा ही समस्त श्रद्धालुओं और देश की जनता की ओर से अखंड ज्योति प्रज्वलित कर सबके कल्याण के लिए मनोकामना पूर्ण होने के लिए बाबा भैरव व मां कालिका से प्रार्थना करेंगे।

इस वर्ष सम्पूर्ण संसार में फैल रही कोविड़ 19 महामारी के चलते मंदिर कमेटी ने सरकार द्वारा जारी की गाईड़ लाईन की पूर्ण पालना की है व नवरात्रा मेला महोत्सव पर सभी आयोजनो को स्थगित किया है।

अजमेर जिले में धारा 144 के चलते आमजन के सुरक्षा मानको को ध्यान में रखते हुए मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं का प्रवेश 31 अक्टूबर तक बन्द रहेगा व मंदिर के पट भी नहीं खुलेंगे।

धाम के उपासक चंपालाल महाराज ने सभी भक्तो से अपील की है कि किसी को भी राजगढ़ नही आना है, अपनेे घर पर रहकर मां कालिका व बाबा भैरव का स्मरण, ध्यान, प्रार्थना और अरदास करें।

कोरोना महामारी से बचाव के लिए सरकार द्वारा जारी की गई गाइड लाइन के अनुसार नियमों की पालना करें, सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें, बार-बार अपने हाथों को साबुन से धोएं व सैनिटाइज करें। जब तक कोई अति आवश्यक कार्य नहीं हो अपने घर से बाहर नहीं निकले और मास्क का उपयोग करें साथ ही एक दूसरे से 2 गज की दूरी बनाए रखें।

यदि आपको थोड़ा सा भी आपके शरीर में कुछ महसूस होता है तो आप तुरंत प्रभाव से अस्पताल जाएं व अपना चेकअप करवाएं एवं चिकित्सक से सलाह लेकर दवा जरूर ले।