नौसेना को मिलेंगे छह अत्याधुनिक स्वेदशी गश्ती जहाज

समुद्री निगरानी को पुख्ता तथा चाक चौबंद बनाने के उद्देश्य से सरकार ने 4941 करोड़ रूपये की लागत से नौसेना के लिए देश में ही बने छह अत्याधुनिक गश्ती जहाज खरीदने का निर्णय लिया है।
समुद्री निगरानी को पुख्ता तथा चाक चौबंद बनाने के उद्देश्य से सरकार ने 4941 करोड़ रूपये की लागत से नौसेना के लिए देश में ही बने छह अत्याधुनिक गश्ती जहाज खरीदने का निर्णय लिया है।

नयी दिल्ली । समुद्री निगरानी को पुख्ता तथा चाक चौबंद बनाने के उद्देश्य से सरकार ने 4941 करोड़ रूपये की लागत से नौसेना के लिए देश में ही बने छह अत्याधुनिक गश्ती जहाज खरीदने का निर्णय लिया है।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में सोमवार को हुई रक्षा खरीद परिषद की बैठक में इस निर्णय को मंजूरी दी गयी। रक्षा मंत्रालय के अनुसार ये जहाज देश के शिपयार्डों में ही बनाये जायेंगे और इनमें अत्याधुनिक तथा अधिक रेंज के सेंसर लगाये जायेंगे। इन जहाजों की तैनाती से नौसेना समुद्र और तटवर्ती क्षेत्रों में कई तरह के अभियानों को मजबूती तथा प्रभावशाली ढंग से अंजाम दे सकेगी।

इनमें समुद्री क्षेत्रों और वहां स्थित प्रतिष्ठानों की सुरक्षा, बचाव और खोज अभियान, निगरानी अभियान, समुद्री सुरंग संबंधी अभियान, समुद्री डकैतों के खिलाफ अभियान, घुसपैठ रोकने के अभियान , तस्करी रोधी अभियान और मानवीय सहायता अभियान शामिल हैं।

रक्षा मंत्रालय ने टि्वट कर भी कहा है कि नौसेना के ये जहाज मिलने से समुद्री सुरक्षा मजबूत होगी और अभियानों की क्षमता भी बढेगी। मंत्रालय ने यह भी कहा है कि वह सशस्त्र सेनाओं को ताकतवर बनाने के लिए खरीद प्रक्रिया में तेजी लाने के कदम उठा रही है।