‘मोदी सरकार की जागरूकता से PNB धोखाधड़ी मामला सामने आया’

NDA government’s alertness brought UPA led PNB scam to light : prakash javadekar

नई दिल्ली। भाजपा ने नीरव मोदी मामले में कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि पंजाब नेशनल बैंक में हुए 11,500 करोड़ रुपए का घोटाला संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार का एक और घोटाला है, जो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार की जागरूकता की वजह से सामने आया है।

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भाजपा मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह भाजपा सरकार की जागरूकता की वजह से प्रकाश में आ पाया। यह संप्रग सरकार के कार्यकाल में शुरू हुआ था। यह संप्रग का एक और घोटला है। हमारी जागरूकता और उपयुक्त कार्य-प्रणाली की वजह से यह मामला प्रकाश में आया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में राजग सरकार पूरी बैंकिंग प्रणाली को साफ करने के लिए असाधारण तरीका अपना रही है, जोकि संप्रग सरकार के कार्यकाल में बर्बाद कर दी गई थी। जावड़ेकर ने कांग्रेस से गीतांजलि जेम्स और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच रिश्ता भी जानना चाहा।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने 13 सितंबर, 2013 को दिल्ली स्थित गीतांजलि जेम्स के एक कार्यशाला में शिरकत की थी और इसके एक दिन बाद यानी 14 सितंबर को ऋण के मामले में इलाहबाद बैंक के साथ बैठक हुई और एक और बैठक के बाद 17 सिंतबर को कंपनी को 1550 करोड़ रुपए का ऋण पास किया।

जावड़ेकर ने कहा कि वर्ष 2013 में इलाहबाद बैंक के स्वतंत्र निदेशक दिनेश दुबे के इस मामले में आवाज उठाने के बावजूद, गीतांजलि जेम्स को ऋण दे दिया गया। जावड़ेकर के अनुसार दुबे ने तब भारतीय रिजर्व बैंक और वित्त सचिव से इसकी शिकायत की थी, इसके बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई।

उन्होंने इस मामले के लिए इस्तेमाल होने वाले ‘घोटाले’ शब्द को खारिज कर दिया और कहा कि यह बैंक धोखाधड़ी था, न कि सरकारी घोटाला। उन्होंने कहा कि इसका सरकार से कुछ लेना-देना नहीं है। इसकी तुलना 2जी, कॉमनवेल्थ व कोयला घोटाला से नहीं किया जा सकता। यह नेशनल हैराल्ड जैसे ही कांग्रेस पार्टी का एक और घोटाला है, जिसमें कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी जमानत पर रिहा है।