CM आवास में किसने लिखी मारपीट की पटकथा | अरविंद केजरीवाल से जल्‍द हो सकती है पूछताछ

Office of Profit case: BJP, Congress seek Delhi CM Arvind Kejriwal's resignation after EC's recommendation

SABGURU NEWS | नई दिल्ली [JNN]। मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की पिटाई मामले में जल्‍द ही दिल्‍ली पुलिस मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछताछ कर सकती है। केजरीवाल के सलाहाकार वीके जैन की कोर्ट में गवाही के बाद ही यह तय हो गया था कि इस मामले की आंच मुख्‍यमंत्री तक पहुंचना तय है। अब पुलिस केजरीवाल के सलाहाकार बीके जैन के बयान को आधार बनाकर उनसे सवाल-जवाब करेगी। एक बड़े सवाल का जवाब पुलिस भी खोज रही है कि अगर यह घटना पूर्व नियोजित नहीं थी तो रात में मुख्‍यमंत्री आवास पर मुख्‍य सचिव को बुलाने के क्‍या निहितार्थ हैं। इस मामले में मुख्‍यमंत्री ने हस्‍तक्षेप क्‍यों नहीं किया।

उधर, जानकारों का कहना है कि पुलिस इस केस में प्रमुख अभियुक्‍त के साथ-साथ कई सहअभियुक्‍त भी बना सकती है। अब पुलिस ने इस कड़ी में तेजी से काम करना शुरू कर दिया है। पुलिस ने सबसे पहले सरकारी गवाह तैयार किया इसके बाद वह साक्ष्‍यों को जुटाने में लग गई। मुख्‍यमंत्री आवास पर औचक छापेमारी इसी कड़ी के रूप में देखा जा रहा है।

1- गवाह

अरविंद केजरीवाल का सलाहकार गवाह

हालांकि इस मामले में दिल्‍ली पुलिस बहुत फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। यही वजह है कि उसने तब तक इस केस में कोई पहल नहीं की, जब तक उसके हाथ पक्‍के सबूत नहीं लग गए। पुलिस को सरकारी गवाह मिलते ही उसने अपनी प्रक्रिया तेज कर दिया। दिल्‍ली पुलिस ने मुख्‍यमंत्री के सलाहकार वीके जैन को सरकारी गवाह बनाया। दरअसल, मुख्य सचिव अंशु प्रकाश उनके ही फोन करने पर मुख्‍यमंत्री आवास पहुंचे थे। घटना के वक्‍त वह मौके पर भी मौजूद थे।

2-  सबूत

14 CCTV कैमरे को समय से 40 मिनट 42 सेकेंड पीछे

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सरकारी आवास में लगे सभी 14 सीसीटीवी कैमरे को समय से 40 मिनट 42 सेकेंड पीछे कर दिया गया था। एडिशनल डीसीपी उत्तरी जिला हरेंद्र कुमार का कहना है कि उन्हें शक है कि कैमरे के डीवीआर में छेड़छाड़ की गई है। जांच में इसकी पुष्टि होने पर केस में सबूत मिटाने की धारा 201 भी जोड़ दी जाएगी। केजरीवाल के आवास में कुल 21 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, जिसमें से महत्वपूर्ण जगहों पर लगे 7 कैमरे बंद पाए गए। वहींं, मुख्यमंत्री आवास के गेट पर लगे सबसे अहम मूविंग कैमरे के खराब पाए जाने के मामले ने पुलिस को और हैरान कर दिया है। पुलिस को शक है कि पहले मुख्यमंत्री आवास में योजना बनाई गई और फिर कैमरे के साथ छेड़छाड़ करने के बाद मुख्य सचिव को आधी रात में बुलाकर उनके साथ मारपीट की गई। पुलिस मुख्यमंत्री आवास से कैमरे का एक डीवीआर जब्त कर जांच के लिए अपने साथ ले गई है। उस डीवीआर में पूरे एक माह की रिकार्डिंग है।

VIDEO राशिफल 2018 पूरे वर्ष का राशिफल एक साथ || ग्रह नक्षत्रों का बारह राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो