राॅस टेलर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की

वेलिंगटन। न्यूजीलैंड के दिग्गज बल्लेबाज रॉस टेलर ने गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की। बांग्लादेश के खिलाफ आगामी टेस्ट सीरीज उनकी आखिरी टेस्ट सीरीज होगी। इससे पहले वह समर सत्र में ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड के खिलाफ सीरीज में वनडे क्रिकेट को अलविदा कहेंगे।

टेलर ने गुरुवार को एक ट्वीट में कहा कि आज मैं घरेलू समर सत्र के समापन पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अपनी सेवानिवृत्ति की घोषणा कर रहा हूं। बांग्लादेश के खिलाफ दो और टेस्ट तथा ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड के खिलाफ छह वनडे मैच और खेलूंगा। 17 साल के अविश्वसनीय समर्थन के लिए सभी का धन्यवाद। अपने देश का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए सम्मानजनक रहा है।

दिग्गज बल्लेबाज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने के अपने फैसले के बारे में कहा कि यह एक अदभुत यात्रा रही है और जब तक मुझे अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला उसके लिए मैं भाग्यशाली महसूस करता हूं। खेल के कुछ महान खिलाड़ियों के साथ और उनके खिलाफ खेलना और रास्ते में इतनी सारी यादें और दोस्त बनाना मेरे लिए सौभाग्य की बात है, लेकिन सभी अच्छी चीजों का अंत होना चाहिए और मेरे लिए यही सही समय लगता है। इस सीजन के बाद आपको अच्छे तरीके से धन्यवाद देने के लिए बहुत समय होगा, लेकिन अभी के लिए मैं चाहता हूं कि मेरी सारी ऊर्जा और ध्यान इस समर सत्र में टीम की अच्छी तैयारी और प्रदर्शन पर हो।

उल्लेखनीय है कि 37 वर्षीय टेलर ने अब तक 110 टेस्ट, 233 वनडे और 102 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में न्यूजीलैंड का नेतृत्व किया है। वह 2006 में अपने अंतरराष्ट्रीय पदार्पण के बाद से 445 मैचों में न्यूजीलैंड के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं।

37 वर्षीय टेलर ने 110 टेस्ट मैच खेले हैं और वह इस प्रारूप में न्यूज़ीलैंड की ओर से सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं। साथ ही वनडे मैचों में भी वह अव्वल नंबर पर हैं। टेलर ने मार्च 2006 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ अपना वनडे पदार्पण किया था। अगले साल नवंबर में दक्षिण अफ़्रीका के विरुद्ध उन्हें पहली बार टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौक़ा मिला। पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 290 टेस्ट में उनका सर्वाधिक स्कोर है।

न्यूज़ीलैंड को पहला विश्व टेस्ट चैंपियन बनाने के समय टेलर केन विलियम्सन के साथ क्रीज़ पर मौजूद थे। पहले टेलर ने कहा था कि वह 2023 विश्व कप तक खेलना चाहते हैं लेकिन अब उन्होंने फ़ैसला किया है कि खेल से दूर जाने का यह सही समय है। वह साल के दूसरे भाग में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ टेस्ट सीरीज़ में अनुपलब्ध रहेंगे।

न्यूज़ीलैंड के कोच गैरी स्टेड का मानना है कि टेलर देश के महान खिलाड़ियों की सूची में शामिल हो गए हैं। उन्होंने टेलर का आभार व्यक्त किया और बताया कि वह उस पल को कभी नहीं भूलेंगे जब टेलर ने साउथम्पटन में चौका लगाकर टीम को विश्व टेस्ट चैंपियन बनाया था। उन्होंने कहा कि बल्लेबाज़ के तौर पर टेलर का कौशल विश्वस्तरीय है और उन्होंने उच्च स्तर पर लगातार प्रदर्शन किया है। अपने अनुभव से कई मौक़ों पर उन्होंने टीम को बांधे रखा और उनका कैचिंग रिकॉर्ड तो लाजवाब है ही। जब वह चले जाएंगे, बेशक़ हमें उनकी बहुत याद आएगी।

टेलर ने बताया कि वह अपनी घरेलू टीम सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट्स के लिए उपलब्ध रहेंगे और इस सीज़न के बाद घरेलू क्रिकेट में आगे खेलने या ना खेलने का निर्णय लेंगे।