डेवोन कॉनवे को आईसीसी ‘प्लेयर ऑफ द मंथ पुरस्कार’

दुबई। न्यूजीलैंड के बेहतरीन ओपनर डेवोन कॉनवे को पुरुष और इंग्लैंड की सोफी एक्लेस्टोन को महिला श्रेणी में आईसीसी ‘प्लेयर ऑफ द मंथ पुरस्कार’ के लिए चुना गया है। दोनों को जून माह में संपन्न श्रृंखलाओं में शानदार प्रदर्शन के लिए यह पुरस्कार दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि कॉनवे अपने टेस्ट क्रिकेट करियर के पहले महीने में ही शानदार प्रदर्शन के बाद यह पुरस्कार जीतने वाले न्यूजीलैंड के पहले खिलाड़ी बने हैं। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ पदार्पण टेस्ट में एक महत्वपूर्ण दोहरा शतक बनाया था। इसके बाद अपने अगले दो मैचों में दो अर्धशतक बनाए, जिसमें साउथम्पटन में भारत के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल भी शामिल है।

पुरुष श्रेणी में उन्होंने डब्ल्यूटीसी फाइनल में शानदार गेंदबाजी करने वाले अपने हमवतन काइल जैमिसन और दक्षिण अफ्रीका के स्टार बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक को पछाड़ा है। आईसीसी वोटिंग अकादमी का नेतृत्व कर रहे रमीज राजा ने कॉनवे के बारे में कहा कि लॉर्ड्स में टेस्ट पदार्पण पर उनकी बल्लेबाजी साल के सर्वश्रेष्ठ शो में से एक है। वह देर से गेंद खेलते हैं। वह एक संत की तरह धैर्य रखते हैं और एक योद्धा की सहजता के साथ चलते हैं।

इंग्लैंड की लेफ्ट आर्म स्पिनर सोफी एक्लेस्टोन ने जून में भारत के खिलाफ सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया था। महिला श्रेणी में उन्होंने शैफाली वर्मा और स्नेह राणा की भारतीय जोड़ी को पीछे छोड़ा है। इसी के साथ वह आईसीसी महिला प्लेयर ऑफ द मंथ पुरस्कार जीतने वाली दूसरी अंग्रेज महिला क्रिकेटर बन गईं हैं। इससे पहले टैमी ब्यूमोंट को फरवरी में यह पुरस्कार मिला था।

वोटिंग अकादमी के प्रतिनिधि मपुमेलेलो मबांगवा ने एक्लेस्टोन के बारे में कहा कि एक्लेस्टोन के लिए पिछला महीना बहुत शानदार रहा है। उन्होंने भारत के खिलाफ श्रृंखला में अच्छी गेंदबाजी करके भारतीय खिलाड़ियों को खासा परेशान किया। इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनके विरोधी उनसे निपटने के लिए दुविधा में पड़ गए, क्योंकि उन्होंने बल्लेबाजों को बचने का कोई मौका नहीं दिया। यह उनके लिए एक बहुत ही शानदार महीना था, जिसमें वह अपनी इंग्लैंड टीम के लिए बहुत प्रभावशाली रहीं।