औरैया में नवविवाहित महिला सिपाही ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

औरैया। उत्तर प्रदेश में औरैया के बिधूना क्षेत्र में तैनात एक महिला सिपाही ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

पुलिस अधीक्षक सुनीति ने मंगलवार को बताया कि कोतवाली बिधूना में तैनात महिला सिपाही शालू गिरी (22) भारतीय स्टेट बैंक के पीछे मोहल्ला किशोरगंज स्थित एक मकान में किराये पर रहती थी।

आज सुबह 5:30 बजे कोतवाल के सीयूजी पर परिजन का फोन आया कि सोमवार शाम से शालू से सम्पर्क नहीं हो रहा है। उसके बाद एक अन्य महिला सिपाही को उसके घर भेजकर दिखवाया गया, तो वह कमरे के कुंदे से दुपट्टे के सहारे फंदे पर झूलती मिली।

उन्होंने बताया कि क्षेत्राधिकारी मुकेश प्रताप सिंह व कोतवाल विनोद कुमार शुक्ला तत्काल मौके पर पहुंचे और फोरेंसिक टीम बुलाकर कमरे का दरवाजा तोड़ महिला सिपाही का शव नीचे उतारवाया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मृतक महिला सिपाही की कुछ दिनों पूर्व ही शादी हुई थी। कुछ व्यक्तिगत मामले भी थे जिनका परिजनों के आने बाद ही पता चलेगा।

उन्होंने बताया कि बताया कि मौके कुछ मल्टीपल डायरी टाइप के नोट्स मिले हैं, जिसमें लिखा है कि मेरी मौत का कोई जिम्मेदार नहीं है। उन्होंने कहा कि मामले की गहराई से जांच की जा रही है।

महिला सिपाही बागपत के गांव लतीफपुर दत्त नगर थाना बलैइनी की रहने वाली है। वह 2019 बैच की महिला सिपाही है जिसकी 16 दिसम्बर 2019 को बिधूना कोतवाली में ज्वाइनिंग/पोस्टिंग हुई थी, जिसकी पिछली 26 अप्रैल 2020 को बागपत के ही रहने वाले राहुल गिरी के साथ शादी हुई थी जो एक शिक्षक है।

शादी के बाद वह 5 मई को वापस कोतवाली आई थी और 25 मई से मोहल्ला किशोरगंज में तरूण सिंह/वरूण सिंह के मकान के एक कमरे में किराये पर रहने लगी थी। जिसमें पब्लिक डिग्री कालेज बिधूना के निदेशक मनोज कुमार सिंह चौहान पहले से ही किराये पर रहते थे।