एमएमआर टीके से किसी की मौत नहीं हुई : किशोर कानाणी

no-deaths-from-mmr-vaccine-teen-kanani
no-deaths-from-mmr-vaccine-teen-kanani

राजकोट। गुजरात में चल रहे खसरा, कंठमाला और रूबेला (एमएमआर) रोधी टीकाकरण अभियान के दौरान बच्चों की कथित मौत और बीमार होने की रिपोर्टों को सिरे से खारिज करते हुए राज्य के स्वास्थ्य राज्य मंत्री किशोर कानाणी ने आज कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है और इसके चलते किसी की भी मौत नहीं हुई है।

उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा कि किसी तरह की गलतफहमी के चलते फैलायी जा रही ऐसी बातों के कारण लोगों के मन में इस टीके के प्रति डर पैदा हो रहा है जबकि यह बच्चों और उनके माध्यम से राष्ट्र की तंदरूस्ती के लिए दिया जा रहा है।

सौराष्ट्र के तीन जिलों मोरबी, राजकोट और पोरबंदर के सिविल अस्पतालों की समीक्षा के लिए उनके दौरे पर निकले श्री कानाणी ने यहां यह बात कही। ज्ञातव्य है कि राज्य में 16 जुलाई से शुरू हुए इस टीकाकरण अभियान के दौरान कम से कम चार बच्चों की मौत और कई के बीमार पड़ने की रिर्पोटें आयी थीं।

कानाणी ने कहा कि इन मामलों की केंद्र की टीम जांच कर रही है। टीके के चलते कुछ कमजोर बच्चों को बुखार आदि आ सकता है पर इसका कोई गंभीर प्रति प्रभाव अथवा जानलेवा असर होने की बात कहना पूरी तरह बेबुनियाद है।