अमरीका में 9/11 हमले में ओसामा बिन लादेन का हाथ होने कोई सबूत नहीं : तालिबान

काबुल। तालिबान ने कहा है कि अमरीका में 11 सितम्बर-2001 को हुए आतंकवादी हमलों में ओसामा बिन लादेन का हाथ होने के कोई सबूत नहीं है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने एनबीसी न्यूज को दिए साक्षात्कार में यह दावा किया। यह पूछे जाने पर कि क्या आपको नहीं लगता कि ओसामा बिन लादेन ने 9/11 को अंजाम दिया, उन्होंने कहा कि बीस साल के युद्ध के बाद भी कोई सबूत नहीं है। हमारे पास कोई सबूत नहीं है कि वह इसमें शामिल था।

मुजाहिद ने कहा कि तालिबान ने वादा किया है कि अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल किसी के खिलाफ नहीं किया जाएगा। यह पूछे जाने पर कि 20 साल बाद अमरीकियों के देश छोड़कर जाने के बाद तालिबानी कैसा महसूस कर रहे हैं, उन्होंने कहा कि वापसी लगभग समाप्त हो गई है, ये सबसे खुशी के क्षण हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि वह राजनयिकों के आदान-प्रदान और दूतावास खोलने को लेकर अमरीका के साथ संबंधों का एक नया अध्याय शुरू करना चाहते हैं। यह पूछे जाने पर कि अफगानिस्तान की महिलाओं और लड़कियों के लिए उनका संदेश क्या होगा, जो देश के तालिबान के अधिग्रहण से भयभीत हैं, मुजाहिद ने कहा कि वे हमारी बहनें हैं, हमें उनका सम्मान करना चाहिए। उन्हें डरना नहीं चाहिए। तालिबान इंसान हैं और इसी देश के हैं। उन्होंने देश के लिए लड़ाई लड़ी है और महिलाओं को भयभीत होने के बजाय उन पर गर्व होना चाहिए।

काबुल हवाईअड्डे पर देश से पलायन के लिए आने वाले हजारों अफगानों के बारे में मुजाहिद ने कहा कि तालिबान नहीं चाहता कि अफगान अमरीका जाएं। उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते कि हमारे देशवासी अमरीका जाएं। उन्होंने अतीत में जो कुछ भी किया है, हमने उन्हें माफी दे दी है। हमें अपने देश के लिए युवा शिक्षित पेशेवरों की जरूरत है, लेकिन अगर वे जाना चाहते हैं तो यह उनकी मर्जी है।