उत्तर कोरिया पर 50 साल बाद जहाज जब्ती का मुकदमा

North Korea seizure ship seizure 50 years later
North Korea seizure ship seizure 50 years later

वाशिंगटन : अमेरिकी जासूसी जहाज यूएसएस प्यूब्लो के बचे हुए लोग उत्तर कोरिया के खिलाफ मुकदमा दायर करने जा रहे हैं। यह मुकदमा कोरिया प्रायद्वीप पर इस जहाज को जब्त कर और उसके चालक दल को 11 महीने तक बंधक बनाकर प्रताड़ित किए जाने के 50 साल बाद दायर किया जा रहा है। चालक दल के 100 से ज्यादा सदस्य और उनके रिश्तेदार मुकदमे में शामिल हुए। मुकदमा इस माह संघीय अदालत में विदेशी स्वायत्त प्रतिरक्षा अधिनियम के तहत दायर किया गया है, जो पीड़ितों को एक देश द्वारा यातना, बंधक बनाने, व्यक्तिगत चोट या मृत्यु के लिए आतंकवाद के खिलाफ मामला दायर करने की अनुमति देता है।

अभियोगी के वकील ने सोमवार रात सीएनएन को दिए बयान में कहा, “50 साल से ज्यादा समय से पहले यूएसएस प्यूबलो के चालक दल के खिलाफ किए गए इस तरह के अकथनीय कार्य और उसके बाद से उनके और उनके परिवारों पर पड़े इसके असर के लिए हमारे मुवक्किल उत्तर कोरिया से जवाबदेही की मांग कर रहे हैं।”

सीएनएन की खबर के मुताबिक, प्यूबलो को उत्तर कोरिया ने उस वक्त जब्त कर लिया था, जब जहाज 23 जनवरी 1968 को कोरिया प्रायद्वीप के तट पर अंतर्राष्ट्रीय जल सीमा में था।

HOT NEWS UPDATE: samsung s7 vs iphone बुलेट टैस्ट

चालक दल के 83 सदस्यों को उत्तर कोरिया के वोनसान बंदरगाह के लिए निर्वासित कर दिया गया था और बाद में उन्हें प्योंगयांग के समीप हिरासत केंद्र में भेज दिया गया था।

HOT NEWS UPDATE: ऐसी फिल्में जो बनने के बाद भी रिलीज़ ही नहीं हुई जाने इस वीडियो में

वह 11 महीने तक वहां रहे जब तक अमेरिका ने उत्तर कोरिया से लिखित माफी मसौदे पर हस्ताक्षर नहीं किए। इसके बाद अंतत: उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच असैन्य क्षेत्र में पुरुषों को रिहा कर दिया गया।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE