यूं ही नहीं पंचामृत कहलाता अमृत, पंचामृत से ये जानलेवा बीमारियां नहीं आती करीब

Not only Panchamrata, called Amrit, Panchamrath, does not come from these deadly diseases.

Not only Panchamrata, called Amrit, Panchamrath, does not come from these deadly diseases.

सबगुरु न्यूज़| मंदिरों व घरों में पंचामृत का प्रसाद भी बनाया जाता है। क्योंकि पंचामृत का प्रसाद सबसे शुभ व कल्याणकारी माना जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि पंचामृत पीने से शरीर को भी काफी लाभ मिलता है। पंचामृत दूध, दही, शहद, घी और तुलसी की पत्तियों से मिलकर तैयार होता है।

-इसमें तुलसी का एक पत्ता डालकर इसका नियमित सेवन करने से कैंसर, हार्ट अटैक, डायबिटिज, कब्ज और ब्लड प्रेशर जैसी रोगों से बचा जा सकता है।

-पंचामृत से जिस तरह हम भगवान को स्नान कराते हैं ऐसा ही खुद स्नान करने से शरीर की कांति बढ़ती है।

-पंचामृत का सेवन करने से शरीर पुष्ट और रोगमुक्त रहता है।

पंचामृत बनाने के आपको चाहिए- 500 ग्राम दही, 100 ग्राम दूध, 1 चम्मच शहद, 1 चम्मच घी और 8 से 10 तुलसी के पत्ते। इस अनुपात में मिलाकर बनाया गया पंचामृत ही असरदार माना जाता है। चाहें तो मिठास के लिए 50 ग्राम शक्‍कर या चीनी इसमें डाल सकते हैं। इस प्रसाद में बादाम और केसर भी मिलाया जा सकता है।

Video:LEAK VIDEO: छुपते-छुपाते इस कपल ने करी ये गन्दी हरकत, देखें वीडियो

Video:HOT DANCE: बीच रोड नई नवेली भाभी ने करा बेहद हॉट डांस, देखें वीडियो

VIDEO राशिफल 2018 पूरे वर्ष का राशिफल एक साथ || ग्रह नक्षत्रों का बारह राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो