ऑस्ट्रेलिया सरकार के खिलाफ नोवाक जोकोविच की अपील खारिज, निर्वासित होंगे

कैनबरा। वीजा रद्द मामले में दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच की अपील रविवार को एक बार फिर खारिज कर दी गई है। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई सरकार द्वारा अपना वीजा रद्द करने के मामले में सरकार के फैसले के खिलाफ अपील की थी। टेनिस स्टार की अपील खारिज होने के बाद अब ऑस्ट्रेलिया से उन्हें निर्वासित किया जाना तय है।

इस फैसले का मतलब है कि जोकोविच सिटी सेंटर के पार्क होटल में इमिग्रेशन डिटेंशन में लौट आएंगे। इसके साथ ही उनकी रिकॉर्ड 21 पुरुष ग्रैंड स्लेम खिताब जीतने की उनकी उम्मीदें भी खत्म हो गईं हैं।

सर्बियाई खिलाड़ी को सोमवार से शुरू हो रहे सीजन के पहले ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट, ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलना था। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार मुख्य न्यायाधीश जेम्स ऑलसॉप ने कहा कि अदालत जोकोविच का वीजा रद्द करने के आव्रजन मंत्री के फैसले को बरकरार रखती है।

ऑलसॉप ने सीएनएन के हवाले से कहा कि यह फैसला इस बात पर ध्यान केंद्रित करता है कि वीजा रद्द करने का निर्णय विभिन्न तर्कहीन कारणों या कानूनी रूप से अनुचित था। यह अदालत का काम नहीं है कि वह फैसले की मेरिट को देखे। गौरतलब है कि आस्ट्रेलियाई आव्रजन मंत्री एलेक्स हॉक ने शुक्रवार को ऑस्ट्रेलियन ओपन से पहले जोकोविच का वीजा फिर से रद्द कर दिया था।

गत चैंपियन के प्रवास पर अनिश्चितताओं के बावजूद उन्हें गुरूवार को हुए ड़्रॉ में शामिल किया गया था। सर्बियन खिलाड़ी को 17 जनवरी से होने वाले ऑस्ट्रेलियन ओपन में भाग लेने के लिए गुरूवार को निकाले गए ड्रा में शामिल किया गया था और उन्हें शीर्ष वरीयता दी गई थी।

जोकोविच का वीजा पहली बार बीती छह जनवरी को रद्द किया गया था। विश्व नंबर एक खिलाड़ी को इसके बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश से वंचित कर दिया गया था। वह प्रवेश नियमों को पूरा करने में विफल रहे थे। उन्होंने अप्रवासी डिटेंशन में भी दिन बिताए।

बाद में 10 जनवरी को टेनिस ऐस ने ऑस्ट्रेलिया में रहने के लिए अपील दायर की, उस समय जज ने उन्हें अप्रवासी डिटेंशन से तत्काल रिहा करने का आदेश दिया था।