नवंबर 10 : भारतीय और विश्व इतिहास में आज क्या हुआ

Atal Bihari Vajpayee, the first external affairs minister to deliver a speech in Hindi at the UN General Assembly

नई दिल्ली। भारत और विश्व इतिहास में 10 नवंबर की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं:-
1483 – ईसाई धर्म में एक नई धारा की शुरुआत करने वाले मार्टिन लूथर का जन्म।
1610 – सत्रहवीं शताब्दी के प्रख्यात चित्रकार जेरारडो का हॉलैंड के हेग में जन्म।
1785 – हॉलैंड और फ्रांस ने संधि पर हस्ताक्षर किये।
1793 – फ्रांस में बलपूर्वक ईश्वर की पूजा कराने का नियम समाप्त किया गया।
1799 – फ्रांस में ब्रोमर नामक विद्रोह हुआ।
1847 – आयरलैंड के दक्षिणी तट पर पानी का जहाज स्टीफन व्हिटनी दुर्घटनाग्रस्त होने से 92 लोगों की मौत हुई।
1848 – भारतीय शिक्षाविद् और राजनेता सुरेन्द्रनाथ बनर्जी का जन्म हुआ।
1885 – गोटलिएब देमलेर ने दुनिया की पहली मोटरसाइकिल पेश की।
1909 – अमरीकी संगीतकार और गीतकार जॉनी मार्क्स का जन्म हुआ।
1912 – मोरक्को, फ़्रांस तथा स्पेन का उप-निवेश बना।
1918 – जर्मनी के शासक विलहेम द्वितीय हॉलैंड भाग गये।
1940 – बुखारेस्ट, रोमानिया में आए 7.7 तीव्रता के भूकंप में करीब 1000 से अधिक लोग मारे गए।
1951 – संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने प्रस्ताव 96 को स्वीकार किया।
1964 – लियोनिड ब्रेजनेफ़ सोवियत संघ की कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव चुने गए।
1970 – चीन की महान दीवार को पर्यटन के लिए खोला गया।
1978 – रोहिणी खांडिलकर राष्ट्रीय शतरंज चैंपियनशिप जीतने वाली पहली महिला बनीं।
1982 – सोवियत संघ के नेता लियोनिड ब्रेज़नेव की मौत हुई।
1983 – बिल गेट्स ने विंडोज 1.0 पेश किया।
1986 – बांग्लादेश में संविधान फिर लागू किया गया।
1989 – जर्मनी में बर्लिन की दीवार को गिराने का कार्य शुरू हुआ।
1994 – इराक ने आर्थिक प्रतिबंध हटाए जाने की उम्मीद से कुवैत की सीमा को मान्यता दी।
1995 – नाइजीरिया की सरकार ने मानवाधिकार कार्यकर्ता केन सारो-वीवा को फांसी दी।
2001 – प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया।
2006 – कोलम्बो में श्रीलंका के तमिल राजनेता नाडाराजाह रविराज की हत्या कर दी गई।
2008 – मंगल ग्रह पर उतरने के पांच महीने बाद लैंडर से संचार बंद हो जाने पर नासा ने फीनिक्स मिशन को समाप्त कर दिया।
2012 – तुर्की में हेलीकॉप्टर दुर्घटना में 17 लोगों की माैत।
2013 – राजस्थानी भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार विजयदान देथा का निधन।