एनटीपीसी करेगी उपचारित सीवेज जल का इस्तेमाल

एनटीपीसी करेगी उपचारित सीवेज जल का इस्तेमाल
एनटीपीसी करेगी उपचारित सीवेज जल का इस्तेमाल

भारत की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादन कंपनी एनटीपीसी अपनेे दादरी विद्युत स्टेशन में उपचारित सीवेज जल का इस्तेमाल करेगी। विद्युत मंत्रालय द्वारा शुल्क नीति में संशोधन के अनुसार यह अनिवार्य है, कि उपचारित सीवेज जल का इस्तेमाल नगरपालिका निकाय के मलजल उपचार संयंत्र के 50 किलोमीटर के दायरे में स्थित थर्मल पावर प्लान्ट के लिए किया जाए।

अपने कोरपोरेट मूल्यों के तहत एनटीपीसी अपने विद्युत स्टेशनों में उपचारित व्यर्थजल के पुनः इस्तेमाल द्वारा स्थायी पारिस्थितिक संतुलन को सुनिश्चित करने के लिए ॅ ूंेजम ूंजमत का इस्तेमाल करेगी। एनटीपीसी ने हमेशा से पर्यावरण संरक्षण की दिशा में सक्रिय दृष्टिकोण अपनाया है और आधुनिक तकनीकों के इस्तेमाल द्वारा पर्यावरण संरक्षण के प्रयासों को जारी रखे हुए है।

कंपनी ने एनटीपीसी दादरी प्लान्ट को 80 एमएलडी उपचारित सीवेज जल की आपूर्ति हेतू 14 जून 2018 को नोएडा प्राधिकरण के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। उम्मीद की जा रही है कि यह परियोजना अगले तीन सालों में पूरी हो जाएगी।