अभिवादन के लिए हाथ उठे, लेकिन नजरें नहीं मिली

नई दिल्ली। लोकसभा में शपथ ग्रहण समारोह के आज दूसरे दिन एक ऐसा भी नजारा दिखाई दिया, जब जेठानी के अभिवादन के लिए देवरानी के हाथ जरूर जुड़े, लेकिन दोनों में नजरें नहीं मिली।

उत्तर प्रदेश के सदस्यों को शपथ दिलाने के क्रम में लोकसभा महासचिव स्नेहलता श्रीवास्तव ने कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी का नाम पुकारा, तो सदन तालियों से गूंज उठा। गांधी ने हिन्दी में शपथ ली, इस दौरान उनके पुत्र एवं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मोबाइल से वीडियो बनाते देखे गए। अपनी सीट पर पहुंचने पर राहुल गांधी ने मां को बधाई दी। सत्ता पक्ष के सदस्यों ने सोनिया गांधी को हिन्दी में शपथ लेने के लिए साधुवाद दिया।

सोनिया गांधी के बाद बारी आई मेनका गांधी की। जब उनका नाम पुकारा गया तो सत्ता पक्ष के सदस्यों ने जोरदार तालियां बजाई और भारत माता की जय के उद्घोष किए। इस दौरान सोनिया गांधी को भी मेज थपथपाते देखा गया।

मेनका जब शपथ लेने माइक के पास पहुंची तो उन्हें ध्यान आया कि वह अपना पढ़ने का चश्मा सीट पर ही भूल आई हैं, वह लौटकर सीट पर गईं और अपना चश्मा लिया। शपथ के बाद मेनका अस्थायी अध्यक्ष का अभिवादन करके विपक्षी सदस्यों की सीटों की ओर से गुजर रही थीं, तो उन्होंने अगली पंक्ति में बैठी सोनिया गांधी का हाथ जोड़कर अभिवादन किया, जिसका जवाब पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने हाथ जोड़कर दिया, लेकिन दोनों की नजरें नहीं मिलीं।

मेनका गांधी के पुत्र वरुण गांधी का नाम पुकारे जाने पर भी सोनिया गांधी मेज थपथपाती नजर आईं। शपथ के बाद वरुण ने चचेरे भाई राहुल और ताई सोनिया गांधी का हाथ जोड़कर अभिवादन किया।