औरैया के सदर इलाके में एक साल की बालिका से रेप, आरोपी अरेस्ट

औरैया। उत्तर प्रदेश में औरैया जिले के सदर क्षेत्र में ईंट भट्ठे पर काम करने वाले मजदूर की बच्ची के साथ वहां काम करने वाले एक दरिंदे ने दुष्कर्म किया,जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

पुलिस अधीक्षक अपर्णा गौतम ने सोमवार को बताया कि सदर क्षेत्र के गांव भरतपुर में स्थित महादेव ईंट भट्ठा पर एक व्यक्ति अपने परिवार के साथ मजदूरी का काम करता है। वह भट्ठे पर काम कर रहा था और उसकी एक वर्षीय बच्ची वहीं खेल रही थी। उस भट्ठे पर ही काम करने वाला दरिंदा रहीश आया और बच्ची को खिलाने के बहाने अपने साथ ले गया और उसके साथ दुराचार किया और भाग गया।

उन्होंने बताया कि बालिका को गंभीर हालत में जिला अस्पताल भेजा गया। बाद में नाजुक हालत देखते हुए उसे सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी रेफर कर दिया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस सिलसिले में गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कर दरिंदे रहीश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। उन्होंने बताया कि साक्ष्यों के आधार पर जल्द ही अभियुक्त के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर न्यायालय में प्रभावी पैरवी कर उसे कड़ी से कड़ी दिलाई जाएगी।

किशोरी समेत दो लोगों के शव पेड़ पर लटके मिले

औरैया जिले के अजीतमल और फफूंद क्षेत्र में मानसिक रुप से परेशान बालिका का शव संदिग्ध परिस्थितियों में बबूल के पेड़ पर रस्सी के फंदे के सहारे लटका मिला। पुलिस के अनुसार क्षेत्र के ग्राम हरपालपुर निवासी कुंअर सिंह की 17 वर्षीय पुत्री लक्ष्मी कल रात अचानक घर से गायब हो गयी, जिसकी तलाश की गई लेकिन कहीं पता नहीं चला। आज सुबह घर के पास ही खेत में बबूल के पेड़ पर रस्सी के फंदे से उसका शव लटका मिला।

कोतवाली प्रभारी राम सहाय ने बताया कि लक्ष्मी के परिजनों ने बताया है वह भूत-प्रेत के चक्कर में पहले से ही मानसिक रूप से परेशान रहती थी, जिसके चलते उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

सूत्रों ने बताया कि फफूंद क्षेत्र के मिरगावा गांव निवासी 47 वर्षीय सुरेश बाबू दिवाकर अपने परिवार का भरण-पोषण करता था। वह पिछले दस साल से गांव के ही राम सुदर्शन के घर पर रहता था। कल शाम वह घर पर गया और सो गया। आज सुबह सुरेश का शव बबूल के पेड़ पर साड़ी के फंदे से लटका मिला। परिजनों का आरोप है राम सुदर्शन व उसके पुत्र ने मारपीट कर सुरेश की हत्या कर के शव को फंदे पर लटका दिया।