मेव समाज की ओर आयोजित महापंचायत का विरोध किया जायेगा –सिंघल

मेव समाज की ओर आयोजित महापंचायत का विरोध किया जायेगा --सिंघल
मेव समाज की ओर आयोजित महापंचायत का विरोध किया जायेगा –सिंघल

अलवर । राजस्थान के अलवर शहर विधायक बनवारी लाल सिंघल ने कहा है कि गौ तस्करों के समर्थन में यहां मेव समाज की आेर से होने वाली किसी भी तरह की महापंचायत का विरोध किया जाएगा और अलवर के सौहार्दपूर्ण माहौल को खराब नहीं करने दिया जाएगा।

सिंघल ने आज पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जब प्रदेश के गृहमंत्री ने इस मामले में न्यायिक जांच के आदेश दे दिए तो किस बात की महापंचायत। उन्होंने कहा कि यह अलवर शहर के माहौल को खराब करने का प्रयास किया और जबरन उन्होंने महापंचायत करने की कोशिश की तो इसे रोकने के पूरे प्रयास किये जायेंगे1उन्होंने गौ तस्करों का समर्थन करने वाले लोगों पर आरोप लगाते हुए कहा कि इन लोगों ने गौ तस्करी और गौ मांस को अपना व्यापार बना लिया है इसलिए यह समर्थन करते हैं।

अलवर जिले के रामगढ़ पुलिस थाना अंतर्गत ललावंडी गांव में गौ तस्कर अकबर उर्फ रकबर खान की मौत के बारे में उन्होंने कहा कि उसकी मौत ना तो पुलिस की पिटाई से हुई है ना किसी अन्य लोगों की पिटाई से हुई है। पूरी तरह से ऐसा प्रतीत होता है कि रकबर ने जहर खाया है क्योंकि उसके मुंह से झाग निकल रहे थे।

पुलिस कार्यवाही पर सवाल उठाते हुए सिंघल कहा कि उसने आनन-फानन में निर्दोष लोगों को पकड़ा है1 पहले इस मामले की जांच की जाती फिर उसके बाद कार्यवाही की जाती। उन्होंने कहा कि वह पीड़ित परिवारों से मिलेंगे और उनका पूरी तरह से सहयोग होगा पूरी तरह से किया जाएगा। पुलिस को भी क्लीन चिट देते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस सार्वजनिक रूप से किसी की भी पिटाई नहीं करती।

निश्चित रूप से उसने जहर खाया है और उन्होंने बताया कि अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट की आई है लेकिन विसरा रिपोर्ट आना बाकी है उस विसरा रिपोर्ट के बाद दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। उन्होंने कहां की अपने को घिरा पा गौ तस्कर पहले गाड़ियों को छोड़कर भाग जाते थे लेकिन अब यह सीधा मुकाबला करते हैं और यहां तक कि पुलिस पर फायरिंग करने से भी नहीं चूकते। ऐसी स्थिति में जब यह शस्त्र लेकर चलते हैं तो कौन लोग इनकी लोग गो तस्करों की पिटाई करेगा।

उन्होंने गोरक्षकों का समर्थन करते हुए कहा कि गौ रक्षक किसी को भी नहीं पीटते और तस्करो को पकड़कर पुलिस को सुपुर्द कर देते हैं। गोरक्षक पहले से ही पुलिस का सहयोग करते आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं जब खुद विश्व हिंदू परिषद में था तो यह सब चीजें बहुत नजदीकी से देखी हैं गौ तस्कर सड़क मार्ग से गाय को नहीं ले जाते हैं और गांव के अंदर से गायों को ले जाते हैं।

उन्होंने कहा कि हर हिंदू का दायित्व है कि गायों की रक्षा करें इसलिए गायों की रक्षा करने के लिए वह गौ तस्करों से मुकाबला भी करते हैं। हाल ही में इस क्षेत्र में मिली गायों की खालों के मामले में उन्होंने कहा कि इसकी पुलिस जांच चल रही है। उन्होंने मेव समाज के लोगो का आह्वान किया कि वह गौ तस्करों का सहयोग नहीं करे।