भाजयुमो सरूपगंज बैठक में नहीं मिल पाएगा गोपालन मंत्री का सार्वजनिक जवाब!

sirohi mla otaram dewasi
sirohi mla and cow minister otaram dewasi

सबगुरु न्यूज-सिरोही। हाल ही में वायरल हुए कथित गोपालन मंत्री ओटाराम देवासी के ऑडियो में महिलाओं को लेकर राजस्थानी कहावत के रूप में प्रयोग किए गए असभ्य शब्दों पर उनका सार्वजनिक बयान सरूपगंज स्थित भाजयुमो की जिला स्तरीय बैठक में नहीं मिल पाएगा। वैसे ओटाराम देवासी मीडिया में इस आवाज का उनका नहीं होने की बात कह चुके हैं। गोपालन मंत्री और सिरोही विधायक ओटाराम देवासी सोमवार को प्रस्तावित भाजयुमो की बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे।

सरूपगंज में सोमवार को यूथ चला बूथ अभियान के तहत कार्यशाला के दौरान जिला स्तरीय सम्मेलन भी आयोजित किया जाएगा। इस सम्मेलन में भाजयुमो प्रदेशाध्यक्ष अशोक सैनी के साथ पूर्व में निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार गोपालन मंत्री ओटाराम देवासी और पिण्डवाडा-आबू विधायक समाराम गरासिया व रेवदर विधायक जगसीराम कोली को भी उपस्थित होना था। इस आॅडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर चल रहे एक संदेश में देवासी द्वारा सरूपगंज में आयोजित भाजयुमो बैठक में इस संबंध में सार्वजनिक बयान देने की संभावना जताई गई थी।

लेकिन, सोमवार को ही राज्य का बजट पेश होने के कारण यह तीनों लोग सोमवार को इस बैठक में उपस्थित नहीं हो पाएंगे। भाजयुमो की ओर से रविवार को जारी प्रेसनोट में इन नेताओं के नाम अतिथियों में शामिल नहीं हैं। इस बैठक के दौरान ओटाराम देवासी द्वारा कथित वायरल ऑडियो में महिलाओं के लिए प्रयोग किए गए असभ्य कहावत पर सार्वजनिक बयान आने का संदेश पिछले कई दिनों से व्हाट्स एप पर वायरल हो रहा था।
-आॅडियों के बाद राजनीतिक मंच पर पहली बार जुटते देवासी और जिला प्रमुख
सोशल मीडिया पर वायरल 8 मिनट 23 सेकेंड के जिस ऑडियो में कथित रूप से ओटाराम देवासी की आवाज बताई जा रही है, उसमें देवासी जैसी आवाज वाला व्यक्ति अप्रत्यक्ष रूप से जिला प्रमुख और नामजैसी आवाज वाला व्यक्ति लेकर किसी अरुण के संबंध में चर्चा करते हुए भी दिखे।

इससे पहली बार ओटाराम देवासी और जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया के मध्य बढ़ रही कटुता सार्वजनिक हुई। इस आॅडियो के वायरल होने के बाद पहली बार गोपालन राज्यमंत्री ओटाराम देवासी और जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया भाजपा के मंच को साझा करते।

वैसे इससे पहले रेवदर में जगसीराम कोली की पुत्री के शादी के दौरान भी जिले के सभी नेता जुटे थे, लेकिन वह सामाजिक कार्यक्रम था और उसमें मंच साझा करने की स्थिति नहीं थी।
-विधानसभा में भी गूंज सकता है आॅडियो का मामला
इधर, वायरल आॅडियो में महिलाओं के संबंध में कथित रूप से असभ्य शब्दों का इस्तेमाल करने वाली आवाज कथित रूप से ओटाराम देवासी की होने का मामला सामने आने के बाद यह मामला राजनीतिक रूप भी लेने लगा है। ओटाराम देवासी के राजस्थान सरकार में मंत्री होने के कारण बजट सत्र में सदन के अंदर और इसके बाद सदन के बाहर भी गूंजने आशंकाएं हैं।

read this also..

वायरल आॅडियो के बाद गोपालन मंत्री और जिला प्रमुख का राजनीतिक अंतरद्वंद्व हुआ सार्वजनिक

भाजयुमो जिला स्तरीय सम्मेलन आज