‘जनपथ से नहीं जनमत’ से चल रही है सरकार: मोदी

Our govt running on Janmat, not Janpath : PM Modi
Our govt running on Janmat, not Janpath : PM Modi

कटक। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार ने चार साल के कार्यकाल में साफ नीयत से पूरी प्रतिबद्धता के साथ काम करते हुए कडे फैसलों से व्यवस्थाओं को बदला है और देश की साख बढायी है। भ्रष्टाचार एवं काले धन के खिलाफ उसकी कडी कार्रवाई से बौखलाया विपक्ष एकजुट हो रहा है।

राजग सरकार को उसके चार साल के कामकाज पर घेरने में लगी कांग्रेस को करारा जवाब देते हुए श्री मोदी ने कहा कि मौजूदा सरकार ‘कन्फयूजन’ से नहीं बल्कि ‘कमिटमेंट’ से चल रही है। यह ‘जनपथ से नहीं जनमत’ से चल रही है।

प्रधानमंत्री ने यहां एक जनसभा में देश के सामने अपनी सरकार का ‘रिपोर्ट कार्ड’ पेश करते हुए महंगाई, बेरोजगारी, गरीबी हटाने , सुरक्षा और विदेश नीति के मोर्चे पर विफल रहने के विपक्ष के आरोपों को उसकी खिसियाहट करार दिया। उन्होंने कांग्रेस और उसकी पिछली सरकार पर तीखे हमले करते हुए कहा कि पूरी कांग्रेस एक परिवार के सामने नतमस्तक रहीं है। पिछले सरकार में प्रधानमंत्री रिमोट कंट्रोल से चलते थे और मंत्रियों को ई मेल से निर्देश मिलते थे।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर साफ नीयत से काम कर रही है, जिससे देश की साख बढ़ी है। यह सरकार न कड़े फैसले लेने से डरती है, न चूकती है। पहले लटकाने , अटकाने और भटकाने की कार्य संस्कृति थी। आधी अधूरी और अपूर्ण व्यवस्था थी।

उनकी सरकार ने व्यवस्थाओं को संपूर्णता की ओर ले जाने के लिए अपनी योजनाओं को निम्न वर्ग तथा मध्यम वर्ग की आशाओं और अपेक्षाओं से जोडा जिससे उनके जीवन में बदलाव आ सके। इस संदर्भ में उन्होंने सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों का उल्लेख किया और कहा कि सबको आवास, किसानों की आय दोगुना करने तथा आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं के लक्ष्य के बारे में विपक्ष सोच भी नहीं सकता।

उन्होंने कहा कि राजग सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल में देश के सवा सौ करोड़ नागरिकों में यह भरोसा पैदा हुआ है कि हिन्दुस्तान बदल सकता है। चार साल में स्थितियां बदली है, देश ठहराव से निरंतरता की ओर, अव्यवस्था से सुव्यवस्था की ओर, कुशासन से सुशासन की ओर और काले धन से जनधन के रास्ते पर तेज गति से बढ़ रहा है।

मोदी ने कहा कि सरकार ने सही रास्ते पर चलकर जनता का विश्वास और मत दोनों जीता है और इसी का परिणाम है कि पिछले चार साल में भाजपा ने पांच राज्यों से 20 राज्यों तक सरकार गठन का सफर तय किया है। भाजपा के 1500 से अधिक चुने हुए विधायक हैं। चार साल में भाजपा ‘पंचायत से पार्लियामेंट’ की विशाल पार्टी बन चुकी है।

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार गरीबों के लिए काम करने वाली सरकार है, क्योंकि यह गरीबों के पसीने की कीमत जानती है। यह जानती है कि गरीबों का पसीना गंगा-गोदावरी की पानी की तरह ही पवित्र है। उन्होंने कहा कि यह ऐसी सरकार है जिसके राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधान ‘सेवक’ का बचपन एक-एक पैसे की कीमत पहचानते हुए बीता है। कुछ लोग चांदी के चम्मच के साथ पैदा होते हैं, लेकिन हमने तो बचपन में चम्मच तक नहीं देखा।

कांग्रेस पर कड़े प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि 48 साल तक देश में एक ही परिवार का राज रहा, उसने देश की कोई परवाह नहीं की। पूरी कांग्रेस पार्टी सत्ता के लिए एक परिवार के सामने नतमस्तक रही है जबकि हमारी सरकार ‘जनपथ’ से नहीं जनमत से चल रही है।

शाह ने मोदी आैर उनकी सरकार के कामकाज की सराहना करते हुए कहा कि उसने चार साल के दौरान देश की राजनीति को पलट दिया तथा परिवारवाद, तुष्टीकरण एवं जातिवाद की राजनीति को समाप्त कर पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस और पॉलिटिक्स आॅफ डेवलपमेंट को बढ़ाया है।

उन्होंने कहा कि हमने चार साल में देश को भ्रष्टाचार मुक्त, पारदर्शी, निर्णायक एवं कड़े फैसले करने वाली सरकार दी है जो लोगों के प्रति संवेदनशील तथा गांव, गरीब एवं किसान का हित सोचने वाली सरकार है। भाजपा ने देश को सर्वाधिक परिश्रम करने वाला प्रधानमंत्री दिया है जो रोज़ाना 15 से 18 घंटे तक काम करता है। वह विश्व के सबसे लोकप्रिय जननेता हैं।

वहीं मोदी सरकार पर लगातार हमले कर रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वह नारे गढ़ने और स्वप्रचार में अव्वल हैं लेकिन कृषि, रोजगार, ईंधन कीमतों और विदेश नीति जैसे मोर्चों पर पूरी तरह विफल रहे हैं। वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने यहां संवाददाता सम्मेलन में मोदी और शाह की जोड़ी को देश के लिए हानिकाकर बताते हुए कहा कि मोदी सरकार ने चार साल के दौरान कोई भी वादा पूरा नहीं कर देश की जनता के साथ विश्वासघात किया है। देश में कोई सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा है।

सरकार की नाकामी को लेकर पार्टी ने ‘विश्वासघात-चार सालों में सिर्फ बात ही बात’ शीर्षक से एक पुस्तिका भी जारी की है जिसमें विभिन्न क्षेत्रों में आंकड़ों के जरिये सरकार की असफलता का विस्तार से उल्लेख किया गया है।

बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने मोदी सरकार को हर मोर्चे पर नाकाम बताते हुये कहा कि अपने हर काम को ऐतिहासिक बताने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में पेट्रोल तथा डीज़ल की कीमतें इतनी ज़्यादा बढ़ी हैं कि जनता तड़पने लगी है। इस सरकार के कार्यकाल में ग़रीब, मज़दूर, बेरोज़गार, किसान समेत सभी मेहनतकश बुरी तरह प्रभावित हैं।