भारतीय मुसलमानों ने राम मंदिर नहीं तोड़ा : मोहन भागवत

मुंबई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखिया मोहन भागवत ने कहा कि भारतीय मुसलमानों ने राम मंदिर नहीं तोड़ा। भागवत ने कल पालघर जिले के डहाणु में हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय नागरिक ऐसा काम नहीं कर सकते। विदेशी ताकतों ने राम मंदिर तोड़ा था ताकि भारतीयों के हौसले को पस्त किया जा सके।

उन्होंने कहा कि अब यह देश की जिम्मेदारी है कि राम मंदिर दोबारा बनाएं। अयोध्या में राम मंदिर को विदेशी ताकतों ने तोडा था। उन्होंने कहा कि देश के अंदर जो भी तोड़ा गया, उसे पुन: खड़ा करने की जिम्मेदारी हम सभी की है। मंदिर पहले जहां था वहीं मंदिर का निर्माण होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यदि अयोध्या में राममंदिर का निर्माण नहीं हुआ तो हमारी संस्कृति की जड़ कट जाएगी। इसमें कोई आशंका ही नहीं है कि जहां राम मंदिर पहले था, वहीं राम मंदिर बनेगा। उन्होंने कहा कि आज हम स्वतंत्र हैं और जो कुछ भी तोड़ा गया उसे दोबारा बनाने का हमें पूरा अधिकार है।