कर्नाटक में पेट्रोल पंप के मालिकों को आचार संहिता से हो रही है दिक्क्तें

कर्नाटक में पेट्रोल पंप के मालिकों को आचार संहिता से हो रही है दिक्क्तें
कर्नाटक में पेट्रोल पंप के मालिकों को आचार संहिता से हो रही है दिक्क्तें

मैसुरु | कर्नाटक पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने आरोप लगाया है कि राज्य में आचार संहिता लागू होने के कारण पेट्रोल पंप मालिकों और उनके कर्मचारियों को नगदी लाने-ले लाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

एसोसिएशन के अध्यक्ष बासावेगोडा ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि पेट्रोल पंप मालिकों को बैंकों में नगदी जमा करने में आ रही दिक्क्तों को दूर किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, “ हम कैसे अपना व्यवसाय चला सकते हैं जब हर बार नगदी ले जाते समय हमें जांच का सामना करना पड़ेगा। पेट्रोल पंप पर 90 प्रतिशत तक बिक्री नगद होती है। प्रत्येक दिन 15-20 लाख रुपये के लेन-देन होते हैं। हम इतनी बड़ी राशि के बिल साथ लेकर नहीं चल सकते।”

बासावेगोडा ने कहा कि उन्होंने उपायुक्त से अपील की लेकिन उन्होंने कहा कि चुनाव संहिता लागू होने के कारण वह कुछ नहीं कर सकते। उन्होंने आरोप लगाया कि इस दौरान पेट्रोल पंप मालिक के 11 लाख जब्त किये गये रुपये अब तक वापस नहीं किये गये।