प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट एवं पद्मश्री डॉ. अशोक पनगड़िया का निधन

जयपुर। राजस्थान में प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट और पद्मश्री डॉ. अशोक पनगड़िया का कोरोना से आज निधन हो गया। पनगड़िया जयपुर के ईएचसीसी अस्पताल में भर्ती थे।

उनको गत 24 अप्रैल को कोरोना के लक्षण दिखने पर जांच कराई और कोरोना होने पर 25 अप्रैल को आरयूएचएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद उन्हें ईएचसीसी अस्पताल शिफ्ट कर दिया गया था। उनके इलाज के लिए विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम लगी हुई थी।

डॉ. पनगड़िया को 1992 में राजस्थान सरकार की ओर से मेरिट अवॉर्ड मिला। वह एसएमएस अस्पताल में न्यूरोलॉजी के विभागाध्यक्ष रहे। वर्ष 2006 से 2010 तक प्रिंसिपल रहे। वर्ष 2002 में उन्हें मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने डॉ. बीसी रॉय अवॉर्ड दिया गया। वर्ष 2014 में उन्हें पद्मश्री से नवाजा गया।

राज्यपाल कलराज मिश्र, मुख्यमन्त्री अशोक गहलोत, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, पूर्व मुख्यमन्त्री वसुंधरा राजे सहित कई नेताओं ने डा पनगड़िया के निधन पर दुख जताया।

मोदी ने पनगढिया के निधन पर जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जाने-माने न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. अशोक पनगढिया के निधन पर दुख व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को एक ट्वीट संदेश में कहा कि डॉ. अशोक पनगढ़िया ने एक उत्कृष्ट न्यूरोलॉजिस्ट के रूप में अपनी पहचान बनाई थी।

चिकित्सा के क्षेत्र में उनके अनुसंधान कार्य से चिकित्सकों और शोधकर्ताओं की कई पीढ़ियों को लाभ होगा। उनके निधन से दुखी हूं। उनके परिवार और मित्रों के लिए संवेदनाएं। ओम शांति। पनगढिया कोरोना से संक्रमित थे और उनका शुक्रवार को जयपुर के एक अस्पताल में निधन हो गया।