करणी सेना के आगे झुके प्रसून जोशी, जेएलएफ में नहीं लेंगे भाग

'Padmaavat' row: Prasoon Joshi bows to Karni Sena, skips Jaipur Lit fest
‘Padmaavat’ row: Prasoon Joshi bows to Karni Sena, skips Jaipur Lit fest

जयपुर। फिल्म ‘पद्मावत’ को केंद्रीय फिल्म एवं प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) से मंजूरी मिलने के बाद करणी सेना के निशाने पर आए सीबीएफसी प्रमुख प्रसून जोशी ने इस संगठन से मिली धमकी के मद्देनजर जी जयपुर साहित्य महोत्सव में शामिल नहीं होने का फैसला लिया है।

श्री राजपूत करणी सेना ने कहा था कि वह जोशी को जयपुर साहित्य महोत्सव में हिस्सा नहीं लेने देगी। प्रसून को ‘मैं और वो : कॉन्वर्सेशन्स विद माईसेल्फ’ नाम के एक सत्र में हिस्सा लेना था।

प्रसून ने एक बयान जारी कर कहा कि मैं इस बार जेएलएफ में भाग नहीं ले पा रहा हूं। साहित्य और कविता के प्रेमियों के साथ जेएलएफ में चर्चा और विचार-विमर्श इस वर्ष न कर पाने का दु:ख मुझे रहेगा, पर मैं नहीं चाहता कि मेरे कारण साहित्य प्रेमियों, आयोजकों और वहां आए अन्य लेखकों को कोई भी असुविधा हो और आयोजन अपनी मूल भावना से भटक जाए।

उन्होंने कहा कि रही बात फिल्म से जुड़े विवादों की, तो यहां मैं एक बार फिर यह कहना चाहता हूं कि फिल्म ‘पद्मावत’ को..नियमों के अंतर्गत सुझावों को जहां तक संभव हो सम्मिलित करते हुए, सकारात्मक सोच के साथ, भावनाओं का सम्मान करते हुए ही प्रमाणित किया गया है, ये पूरी निष्ठा से एक संतुलित और संवेदनशील निर्णय का प्रयास है।

प्रसून ने आगे कहा ​कि अब थोड़ा विश्वास भी रखना होगा। विश्वास एक-दूसरे पर भी और हमारी स्वयं की बनाई प्रक्रियाओं और संस्थाओं पर भी। विवादों की जगह विचार-विमर्श को लेनी होगी, ताकि भविष्य में हमें इस सीमा तक जाने की आवश्यकता न पड़े।