पाकिस्तान ने राजौरी, सेना चौकियों पर की गोलीबारी

जम्मू 20 नवंबर :- पाकिस्तान ने फिर से संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए मंगलवार को नियंत्रण रेखा से सटी राजौरी और पुंछ में सेना की अग्रिम चौकियों पर भारी गोलीबारी की।
आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया “पाकिस्तानी सेना ने आज सुबह बिना किसी उकसावे के भारतीय चौकियाें पर गोलीबारी शुरू कर दी और सीमावर्ती गांवों में भी ग्रामीणों को घर के अंदर ही रहने के लिए मजबूर कर दिया।” उन्होंने कहा कि दुश्मन ने राजौरी और पुंछ ब्रिगेड के नौशेरा सेक्टर में आरपीजी और मोर्टार से हमला किया और पुंछ ब्रिगेड की सेना की इकाई के पास गोले गिरे।” हालांकि हमारे सैनिकों ने दृढता के साथ जवाबी कार्रवाई की। जबकि अभी तक किसी के घायल या किसी भी बड़े नुकसान की सूचना नहीं है।

उत्तरी कमान के सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रणवीर सिह ने हाल ही में कहा था कि यदि पाकिस्तान अपनी ऐसी गतिविधियों से बाज नहीं आया तो हमारे राष्ट्रीय हित के लिए हानिकारक है तो उसे उसी की भाषा में जवाब दिया जाना चाहिये। सेना कमांडर ने कहा, “नियंत्रण रेखा में सीमा पास से एेसी घटनाएं हो रही है और हमने नियमित रूप से इन गतिविधियों का पाकिस्तानी समकक्षों के साथ विरोध किया है और फिर भी उन्होंने संघर्षविराम को उल्लंघन किया है, हमने उन्हें इसका माकूल जवाब भी दिया है।”

उन्होंने कहा कि सभी जवानों को स्पष्ट संदेश दिया है कि यदि पाकिस्तान अपनी इन हरकतों से बाज नहीं आता जिससे हमारी नियंत्रण रेखा समेंत राष्ट्रीय हित को क्षति पहुंचती है तो हमें उसी की भाषा में उन्हें दंड देना होगा।
उल्लेखनीय है पाकिस्तान ने बिना किसी उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए 12 नवंबर को पुंछ के कृष्णा घाटी में नियंत्रण रेखा के पास गोलीबारी कि जिसमें सेना को एक जवान शहीद हो गया था। इससे पहले भी गोलीबारी में दो जवान शहीद हुए थे।

गृह मंत्रालय ने सूचना के अधिकार के तहत भेजे गये पत्र का उत्तर देते हुए बताया कि जम्मू-कश्मीर में इस वर्ष पाकिस्तान ने पिछले आठ वर्षों के मुकाबले सबसे अधिक बार संघर्षविराम को उल्लंघन किया है। इस वर्ष पहले सात महीनों में 1435 बार संघर्षविराम को उल्लंघन हुआ जिसमें 52 लोग काल का ग्रास बने ओर 232 लोग घायल हुए हैं।