पाकिस्तान सरकार की ओर से अजमेर दरगाह में चादर पेश

pakistan government offers chadar at ajmer dargah
pakistan government offers chadar at ajmer dargah

अजमेर। राजस्थान में अजमेर स्थित विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती के 806वें सालाना उर्स के मौके पर अाज पाकिस्तान की ओर से ख्वाजा की दरगाह में चादर पेश की गई।

भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल मोहम्मद पाकिस्तान की ओर से चादर लेकर अजमेर पहुंचे और पाकिस्तान सरकार की ओर से मजार शरीफ पर हरे रंग की मखमली चादर एवं अकीदत के फूल पेश कर अमन चैन एवं शांति की दुआ की गई।

खादिम सैयद नातिक चिश्ती ने चादर पेश कराई। इस मौके पर अंजुमन की ओर से सभी मेहमानों की दस्तारबंदी की गई एवं तवर्रुक भेंट किया गया। इस अवसर पर पाकिस्तान उच्चायुक्त के अधिकारी तारीक करीम एवं सरफराज भी मौजूद थे। चादर पेश करने के बाद हुजूरे पर पाकिस्तान से आए मेहमानों ने कव्वाली का लुत्फ उठाया और नजराना पेश किया।

इसके बाद साेहेल मोहम्मद ने पत्रकारों से कहा कि उन्होंने पाकिस्तान की चादर पेश कर अपने आप को बेहद खुशनसीब मानते है। वह भाईचारे का पैगाम लेकर यहां आए है। दुनिया में भाईचारा एवं एकता कायम रहे। दोनों मुल्कों के दरमियान संबंधों में सुधार हो।

उन्होंने कहा कि वक्त के साथ उतार चढ़ाव आता रहता है लेकिन ख्वाजा के दर पर आने का सिलसिला कयामत तक जारी रहेगा। उन्होंने किसी भी सियासी सवाल का जवाब नहीं दिया। गौरतलब है कि वर्तमान उर्स में पाकिस्तानी जत्थे को भारत आने की इजाजत नहीं मिली।