लता मंगेशकर के निधन पर पाकिस्तान में छाया शोक

नई दिल्ली। भारत रत्न स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर के निधन की खबर का शोक सीमा पार पाकिस्तान में छा गया।

लता के निधन का समाचार पाकिस्तान में ट्विटर पर सबसे अधिक चर्चा के विषयों में था। पाकिस्तान के सूचना और प्रसारण मंत्री चौधरी फवाद हुसैन वहां की उन हस्तियों में हैं जिन्होंने लताजी के निधन पर दुख जताया और श्रद्धांजलि अर्पित की। कई लोगों ने लता मंगेशकर को बहन के रूप में संबोधित करते हुए अपने दुख का उद्गार किया।

चौधरी फवाद हुसैन ने उर्दू में ट्विटर पर लिखा कि लता का जाना एक युग का अवसान है। उन्होंने संगीत की दुनिया पर दशकों तक राज किया।

बीबीसी समाचार की पंजाबी सेवा ने भी लता मंगेशकर के निधन पर शोक जताते पाकिस्तान के लोगों का एक वीडियो डाला। लोगों का कहना था कि लता मंगेशकर की मधुर आवाज सुनकर उनके आंखों में आंसू आ जाते हैं। कुछ ने उनकी तुलना नूरजहां से भी की।

स्तंभकार दूरदाना नजाम ने लता को संगीत कोकिला कहा। लता मंगेशकर भारत की तरफ पाकिस्तान में भी चाही जाती थीं।

राजनीतिक विश्लेषक शाहिद मसूद ने भी कहा कि लता मंगेशकर का जाना एक दौर का समाप्त होना है। वह पाकिस्तान में भी उतने ही लोकप्रिय थी जितनी वह भारत या किसी और जगह। उन्होंने लताजी को ‘हमारी बहन’ कहकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

मोहम्मद ताहिर नाम के एक अन्य व्यक्ति ने ट्वीट किया कि भारत-पाकिस्तान मैं ऐसा कोई घर नहीं है, जहां लोग उनके गीतों का आनंद न लेते हों। उन्होंने लिखा कि हमारे जीवन की एक उम्र है, उसके बाद क्रूर मौत सामने खड़ी ही हो जाती है।