हिमाचल प्रदेश : जी लैबोरेट की दिल की दवा निटजो के सैंपल फेल

शिमला। हिमाचल प्रदेश में स्थापित कई दवा कंपनियां लोगों के जीवन से खिलवाड़ कर रही हैं। पांवटा साहिब में एक दशक से जीवन रक्षक दवाओं का निर्माण कर रहीं दवा निर्माता कम्पनी जी लैबोरेट की दिल की दवा निटजो के सैंपल फेल हो गए हैं।

यह दवा दिल के मरीजों को एंजाइना जैसी घातक समस्या को कम करने के लिए बनाई जाती है। पांवटा साहिब में जी लैबोरेट की दवा के सैम्पल फेल हुए हैं। इस दवा को लेकर केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण द्वारा ड्रग अलर्ट जारी किया गया है जिसमें यह सैंपल फेल हो गए हैं यह दवा दिल के मरीजों को चेस्ट पेन और एंजाइना जैसी घातक परेशानियों से बचाने के लिए बनाई जाती है।

जानकार बताते हैं कि दवा के सैंपल फेल होने में सबसे बड़ा कारण घटिया रॉ मैटेरियल रहता है। जो मरीज लम्बे समय से इस दवा का सेवन कर रहे हैं उनके स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया गया है। दवा नियंत्रक की जांच के बाद ही उसे बाजार में उतारा जाता है।

सहायक दवा नियंत्रक सिरमौर सन्नी कौशल ने बताया कि ज़ी लेबोरेट्री की दवा के सेम्पल फेल होने की सूचना मिली है। सहायक दवा नियंत्रक ने कहा कि उद्योग को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है।