पटना के आश्रय गृह में एक नाबालिग समेत दो की मौत

Patna Shelter Officials Tried To Hide Deaths Of 2 Inmates, Say Police
Patna Shelter Officials Tried To Hide Deaths Of 2 Inmates, Say Police

पटना। बिहार की राजधानी पटना के राजीवनगर इलाके में आश्रय गृह में एक महिला और एक नाबालिग लड़की की मौत हो गई है।

पुलिस सूत्रों ने रविवार को मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि गैर सरकारी संगठन अनुमया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन के आश्रय गृह आसरा होम में शुक्रवार को एक 40 वर्षीय महिला और एक लड़की की मौत हो गई। लड़की की उम्र करीब 16 वर्ष है। यह वहीं आश्रय होम है, जहां से दो दिन पहले चार बच्चियों ने ग्रिल को काटकर भागने का प्रयास किया था।

वहीं, पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन प्रसाद ने बताया कि मौत होने के बाद शुक्रवार देर रात महिला और लड़की को पीएमसीएच लाया गया। उन्होंने इस मामले की जानकारी पुलिस को नहीं देने के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि पुलिस को इसकी जानकारी दी गई थी और उन्होंने ही शवों का पोस्टमॉर्टम होने से पूर्व पंचनामा बनाया था।

इस बीच पुलिस उपाधीक्षक (विधि-व्यवस्था) मनोज कुमार सुधांशु ने बताया कि इस मामले में आश्रय गृह संचालित करने वाले एनजीओ के कर्मचारियों और पदाधिकारियों से पूछताछ की जा रही है। हालांकि उन्होंने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के वास्तविक कारण का पता चल पाएगा।

उल्लेखनीय है कि इस वर्ष 10 अगस्त को इसी आश्रय गृह के ग्रिल को काटकर चार लड़कियों ने भागने का प्रयास किया था। बच्चियों को भागने के लिए उकसाने एवं इस कार्य में उन्हें सहयोग करने के आरोप में पुलिस ने एक अपराधी रामनगीना सिंह उर्फ बनारसी को गिरफ्तार किया था। आश्रय गृह के निकट ही बनारसी का मकान है और उस पर लड़कियों को छेड़ने का भी आरोप है।