राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सम्पूर्ण समाज का संगठन : निम्बाराम

जयपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचारक निम्बाराम ने कहा कि संघ सम्पूर्ण समाज का संगठन है। सेवा कार्य ही संघ की पहचान है। जब भी समाज में किसी भी कारणवश सेवा की आवश्यकता होती है। स्वयंसेवक समाज के साथ मिलकर सेवा कार्य में जुट जाते हैं। कोरोना की विभीषिका के दौरान संघ के स्वयंसेवकों ने सेवा क्षेत्र में नए प्रतिमान स्थापित कर दिए। सेवा भाव संघ की कार्य पद्दति से स्वतः स्वयंसेवक सीखते है।

निम्बाराम ने पत्रकार-पाथेय कण होली मिलन समारोह में ये विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि अपनी जाति बिरादरी के लिए काम करना बहुत अच्छा है करें, लेकिन दूसरे का अहित भी नहीं हो इसका ध्यान रखना चाहिए। अपना देश लोकतंत्र और संविधान के अनुसार चलता है।

प्रधानमंत्री भी कई बार कहते हैं कि सबसे बड़ा राष्ट्र धर्म है, इसलिए संविधान के अनुसार देश चलना चाहिए यही उचित व्यवस्था है। वैचारिक मत भिन्नताएं हो सकती हैं किन्तु समाज में स्नेह रहना चाहिए, द्वेष नहीं। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवक समाज में समरसता बने इसके लिए कार्य करते है।

निम्बाराम ने अपने उद्बोधन में अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में पारित प्रस्ताव की जानकारी दी जिसमें स्वरोजगार पर जोर दिया गया है। इस अवसर पर पाथेय कण के संपादक रामस्वरूप अग्रवाल ने पाथेय कण पत्रिका की प्रसार संख्या एवं वैचारिकी पर प्रकाश डाला।

मालवीय नगर स्थित पाथेय भवन में सम्पन्न हुए इस कार्यक्रम का प्रारम्भ भारत माता एवं सामाजिक समरसता के संवाहक महापुरुषों के चित्रों के समक्ष पुष्प अर्पित करके किया गया। तत्पश्‍चात विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियां हुई। कार्यक्रम के दौरान अनेक पत्रकारों ने भी गीत, कविता एवं अन्य साहित्यिक प्रस्तुतियां दी।

कार्यक्रम में पाथेय कण संस्थान के विभिन्न पदाधिकारियों के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अनेक प्रचारक, पदाधिकारी एवं विभिन्न समाचार पत्रों एवं टीवी चैनल्स से जुड़े पत्रकार भी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।