भाजपा दामन थामने वाला पार्षद दिनेश प्रताप को सदन में अयोग्य ठहराने की याचिका

पार्षद दिनेश प्रताप को सदन में अयोग्य ठहराने की याचिका
Rahul Gandhi during the parliament on 9th march 2017. Express photo by Renuka Puri.

लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने वाले कांग्रेस विधान पार्षद दिनेश प्रताप सिंह को उच्च सदन में अयोग्य ठहराने के लिये पार्टी नेतृत्व सभापति के समक्ष याचिका दाखिल करेगा।

कांग्रेस के विधान परिषद के सदस्य श्री सिंह ने कल रायबरेली में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की प्राथमिकता सदस्या ग्रहण कर ली थी। कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने आज यहां बताया कि पार्टी भाजपा की सदस्या ग्रहण वाले श्री सिंह के खिलाफ सभापति के सामने अयोग्यता की एक याचिका दाखिल करेंगी। उन्होने बताया कि श्री सिंह के खिलाफ एक दो दिन में याचिका दाखिल की जायेगी। कांग्रेस के उच्च सदन के सदस्य दिनेश प्रताप सिंह ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में अपने भाई और जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह के साथ कल भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली।

हालांकि उसके दूसरे भाई और रायबरेली के हरचन्दपुर सीट से विधायक भाजपा में शामिल नही हुये। तीनों भाई गत दस अप्रैल को कांग्रेस से अलग हो गये थे। दिनेश सिंह के कांग्रेस छोड़ने से खुश पार्टी कार्यकर्ताओं ने मिठाईयां भी बांटी थी। रायबरेली में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष वी0 के0 शुक्ला ने कहा कि पार्टी ने दिनेश प्रताप सिंह और उनके परिवार को सब कुछ दिया है लेकिन उन्होने पार्टी के साथ धोखा किया है। उन्होंने कहा, ‘ रायबरेली के लोग अब उन्हें सबक सिखा देंगे। दिनेश प्रताप सिंह कांग्रेस के टिकट पर रायबरेली स्थानीय निकाय निर्वाचन क्षेत्र से विधान परिषद सदस्य निर्वाचित हुये थे । उनका कार्यकाल सात अप्रैल, 2022 को समाप्त हो रहा है।