कर्नाटक में पेट्रोल और डीजल हुआ महंगा, बिजली दरें भी बढ़ाने का एलान

कर्नाटक में पेट्रोल और डीजल हुआ महंगा, बिजली दरें भी बढ़ाने का एलान
कर्नाटक में पेट्रोल और डीजल हुआ महंगा, बिजली दरें भी बढ़ाने का एलान

बेंगलुरु । कर्नाटक सरकार ने किसानों की कर्जमाफी की घोषणा के साथ ही बिजली, पेट्रोल और डीजल पर बिक्री कर बढ़ा दिया है जिससे यह मंहगे हो गए हैं।

मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने विधानसभा में गुरुवार को अपनी सरकार का पहला बजट पेश करते हुए किसानों की कर्ज माफी के लिए 34 हजार करोड़ रुपये के प्रावधान की घोषणा की किंतु इसी के साथ बिजली, पेट्रोल, डीजल और शराब पर बिक्री कर बढ़ा दिया है।

कुमारस्वामी ने पेट्रोल पर बिक्री कर को दो प्रतिशत बढ़ाकर 30 से 32 प्रतिशत करने का एलान किया गया है। डीजल पर बिक्री कर 19 से बढ़ाकर 21 प्रतिशत किया गया है। करों में इस बढ़ोतरी से पेट्रोल के दाम 1.14 रुपये और डीजल 1.12 रुपये प्रति लीटर महंगा हो जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिक्री कर बढ़ाने से दोनों ईंधन के दाम में हल्की बढ़ोतरी हुई है। कीमतों में बढ़ोेतरी के बावजूद कीमत पड़ोसी राज्यों की तुलना में कम है। विद्युत इस्तेमाल पर शुल्क को छह प्रतिशत से बढ़ाकर 9 प्रतिशत किए जाने से बिजली दर में 20 पैसे प्रति यूनिट की वृद्धि होगी।

देश में निर्मित विदेशी शराब पर भी चार प्रतिशत शुल्क में बढ़ोतरी की गई है। कुमारस्वामी ने बताया कि मोटर वाहन कर से 6656 करोड़ रुपए की प्राप्ति का लक्ष्य रखा गया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए निजी सेवा वाहनों पर फ्लोर एरिया के वर्गमीटर के आधार पर 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने का प्रस्ताव किया गया है। इसके तहत 1100, 1200, 1300 और 1500 रुपये के कर को बढ़ाकर 1650, 1800,1950 और 2250 रुपये किया गया है।