झुंझुनूं में खुले आम होती है हरियाणा से पेट्रोल-डीजल की तस्करी

झुंझुनूं। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ातरी के मद्देनजर राजस्थान के झुंझुनूं जिले में हरियाणा से इसकी तस्करी भी बढ़ गई है।

एक जानकारी के मुताबिक झुंझुनूं जिले में रोजाना करीबन 50 पिकअप में हरियाणा के पेट्रोल पंपों से डीजल-पेट्रोल लाते हैं। एक पिकअप में 2000 लीटर डीजल आता है। ऐसे हर दिन एक लाख लीटर डीजल तस्करी कर लाया जा रहा है।

इसी प्रकार पिकअप से हर दिन करीब 20 हजार लीटर पेट्रोल भी लाया जा रहा है। तस्करी करने वाले लोग डीजल पर रोजाना चार लाख रुपए एवं पेट्रोल पर तीन लाख रुपए कमा रहे हैं। जो हर महीने दो करोड़ रुपए होते हैं।

हरियाणा बॉर्डर पर झुंझुनूं जिले में 20 किमी के एरिया में पेट्रोल पंप नहीं है। जबकि हरियाणा सीमा में घुसते ही 300 मीटर के इलाके में तीन पम्प चल रहें हैं। जबकि 10 किलोमीटर में 13 पम्प चल रहे हैं। झुंझुनूं जिले में बॉर्डर इलाके में कोई नया पंप खेलने की हिम्मत ही नहीं कर पा रहा है।

झुंझुनूं जिला पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन के अध्यक्ष श्यामसिंह कटेवा का मानना है कि पेट्रोल-डीजल तस्करी का असर जिले भर के पेट्रोल पंपों पर पड़ रहा है। हरियाणा में टैक्स कम लगने से तस्करी हो रही है। इससे जिले में बिक्री 50 प्रतिशत प्रभावित हो रही है। वाहन कम नहीं हुए हैं।

राजस्थान में हरियाणा के बराबर वैट होना चाहिए। अगर सरकार ये नहीं कर सकती है तो 50 किमी एरिया में हरियाणा के बराबर रेट कर दे। इससे तस्करी रुक जाएगी।