खरगोन : उपद्रव में पेट्रोल के इस्तेमाल होने के चलते फिलहाल पेट्रोल पंप बंद

खरगोन। मध्यप्रदेश के खरगोन में विशेष रुप से पदस्थ आईपीएस अधिकारी अंकित जायसवाल ने कहा है कि पेट्रोल को दंगों के दौरान हथियार के रूप में इस्तेमाल किए जाने के चलते फिलहाल पेट्रोल पंप नहीं खोले जाएंगे।

जायसवाल ने बुधवार रात्रि पत्रकारों के साथ से चर्चा में इस विषय पर पूछे जाने पर बताया कि हिंसा के दौरान पेट्रोल को पेट्रोल बम के रूप में उपयोग किया गया था। इसलिए फिलहाल पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में कुछ त्यौहार आ रहे हैं, इसलिए रात का कर्फ्यू नहीं हटाया जाएगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि फिलहाल समस्त धार्मिक स्थल भी बंद रखे जाएंगे।

उन्होंने कहा कि अक्षय तृतीया के अवसर पर होने वाले विवाह तथा अन्य मांगलिक प्रसंगों के लिए एक बैठक के उपरांत निर्णय लेकर गाइडलाइन तय की जाएगी।

उन्होंने बताया कि खरगोन में स्थिति फिलहाल पूरी तरह सामान्य है और सुबह 8 से शाम के 5 बजे तक कर्फ्यू में ढील के दौरान नागरिक बेहद शांतिपूर्ण तरीके से अपनी गतिविधि संचालित कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि एहतियात के तौर पर खरगोन जिला मुख्यालय पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात रखा गया है।

उन्होंने बताया कि फिलहाल पूरे जिले में 74 प्रकरण दर्ज कर कई इनामी आरोपियों समेत 177 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। शेष आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कई दल भेजे गए हैं।