केरल में भूस्खलन से 13 लोगों की मौत, 66 लापता

मुन्नार। केरल में ईडुकी जिले के पेटीमुडी में शुक्रवार को भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन से कम से कम 13 लोगोंं की मौत हो गई और करीब 66 अन्य लापता हो गए।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि गुरुवार रात से क्षेत्र में भारी बारिश हो रही है जिसके कारण मुन्नार ग्राम पंचायत में राजामला के पेटीमुडी में तड़के करीब चार बजे भूस्खलन की यह घटना हुई। इस इलाके से अन्य क्षेत्रों का संपर्क कम होने के कारण घटना के बारे में कई घंटों बाद सुबह पता चल सका।

उन्होंने बताया कि 13 शवों में नौ की शिनाख्त कर ली गई है। भूस्खलन से चाय बागान मजदूरों की एक कतार में बने मकान जमींदोज हो गए। मलबे में कम से कम 66 लोगों के दबे हाेने की आशंका है। इसके अलावा 12 लोगों को बचा लिया गया है, जिनमें से चार को मुन्नार टाटा अस्पताल और अन्य को कोलेनचेरी मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की टीम मौके पर पहुंच गई है और बचाव कार्य शुरू कर दिया है। एक अधिकारी ने बताया कि बचाव अभियान के तहत लोगों काे विमान के जरिये निकालने की कोशिशें भी खराब मौसम के कारण फिलहाल कामयाब नहीं हो पा रही हैं। पड़ोसी जिले के अस्पतालों को किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है।

शुरुआती घंटों में पुलिस या राजस्व विभाग के अधिकारी घटनास्थल तक नहीं पहुंच पाए थे क्योंकि कल रात इलाके को जोड़ने वाला पेरियावरम पुल बाढ़ में नष्ट हो गया था। मुन्नार से लगभग 30 किलोमीटर दूर यह भूस्खलन हुआ लेकिन क्षेत्र के खराब बुनियादी ढांचे के कारण बचाव अभियान में देरी हुई। इस क्षेत्र के एराविकुलम नेशनल पार्क का हिस्सा होने के कारण विकास कार्य काफी कम हुए हैं।

हादसे में बचाए गए एक व्यक्ति ने बताया कि उसके पिता और पत्नी का भूस्खलन की घटना के बाद कुछ पता नहीं है और उसकी मां की हालत गंभीर है, जो अभी मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती है। सूत्रों के मुताबिक भूस्खलन से करीब 30 जीपें भी मलबे में दब गई हैं।