वोट बैंक की राजनीति के लिए PFI रैली को दी गई अनुमति : सतीश पूनियां

जयपुर। राजस्थान के भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनियां ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की कोटा में रैली पर आपत्ति जताते हुए कांग्रेस सरकार पर वोट बैंक एवं तुष्टिकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया और कहा है कि इसलिए प्रतिबंधित संगठन को रैली की इजाजत दी गई हैं।

डा पूनियां ने कोटा में पीएफआई की हुई रैली को लेकर आज यहां मीडिया से बातचीत में यह बात कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार को प्रतिबंधित संगठन पीएफआई की रैली को अनुमति नहीं देनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि पीएफआई नीतियों व गतिविधियों के आधार पर ब्लैकलिस्टेड संस्था है, इस संस्था को कांग्रेस सरकार द्वारा विवादास्पद मौके पर रैली की इजाजत देना कतई उचित नहीं है। कदाचित कांग्रेस को लगता होगा कि उसकी वोट बैंक व तुष्टीकरण की राजनीति पर कहीं ना कहीं संकट आएगा, इसीलिए उसने पीएफआई की रैली को अनुमति दी है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार को पीएफआई की रैली को अनुमति नहीं देनी चाहिए, इस तरह की गतिविधियों से ऐसे प्रतिबंधित संगठनों का हौसला बढ़ता है, जो प्रदेश और देश में अशांति व अस्थिरता फैलाना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि पीएफआई वही संस्था है जिसे ब्लैकलिस्ट किया हुआ है और जिसके बारे में देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारनामों की बातें चलती हैं। उन्होंने कहा कि यह देश लोकतंत्र और संविधान के हिसाब से चलेगा और जो संविधान का सम्मान करेगा, वही देश की नीयत के हिसाब से चल सकता है और देश का हित कर सकता है।