जयपुर यूनेस्को की विरासत स्थल सूची में शामिल

नई दिल्ली। गुलाबी शहर के नाम से मशहूर जयपुर को यूनेस्को की विरासत स्थल सूची में शामिल किया गया है। यूनेस्को की विरासत स्थल समिति की अजरबैजान की राजधानी बाकू में चल रही बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल ने इस पर प्रसन्नता व्यक्त की है और इसे देश के लिए गर्व का विषय बताया है। जयपुर के आमेर किला और जंतर-मंतर को विश्व विरासत सूची में पहले ही जगह मिल चुकी है।

जयपुर शहर की स्थापना 1727 में राजा जयसिंह ने की थी। यह अपनी स्थापत्य कला के कारण पर्यटकों में आकर्षण का केंद्र है। यहां की संस्कृति, वस्त्र सज्जा और लोकगीत लोगों को लुभाते रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने जताई खुशी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुलाबी शहर के नाम से मशहूर जयपुर को यूनेस्को की विरासत स्थल सूची में शामिल किए पर खुशी जाहिर की है। मोदी ने टि्वट कर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि जयपुर संस्कृति और वीरता से जुड़ा शहर है। सुंदर और ऊर्जावान, जयपुर का अतिथि सत्कार सबको लुभाता है। यह प्रसन्नता का विषय है कि इस शहर को यूनेस्को की विरासत स्थल सूची में शामिल किया गया है।