जीवन संगीत की साधना में हमेशा के लिए लीन हो गईं स्वर कोकिला लता

मुंबई। अपनी आवाज के जादू से संगीत प्रेमियों के दिलों पर राज करने वाली स्वर कोकिला लता मंगेशकर अब हमेशा के लिए जीवन संगीत की साधना में लीन हो गईं। मध्य प्रदेश के इंदौर में 28 सिंतबर 1929 को जन्मीं लता मंगेशकर (मूल नाम हेमा हरिदकर) के पिता दीनानाथ मंगेशकर मराठी रंगमंच से जुड़े हुये … जीवन संगीत की साधना में हमेशा के लिए लीन हो गईं स्वर कोकिला लता को पढ़ना जारी रखें