पीएम मोदी और मोहन भागवत 12 नवम्बर को वाराणसी में

PM Modi and RSS chief Mohan Bhagwat to meet in Varanasi on November 12
PM Modi and RSS chief Mohan Bhagwat to meet in Varanasi on November 12

लखनऊ। यह पहला मौका होगा जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत 12 नवम्बर को एक साथ काशी में होंगे।

धार्मिक नगरी काशी में मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के लोगों को दीपावली का उपहार देंगे, तो आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत आगामी लोकसभा चुनाव की रणनीति और संगठन की भूमिका तय करेंगे। यह पहला मौका होगा जब मोदी और भागवत एक साथ काशी में होंगे।

पार्टी सूत्रों ने शनिवार को यहां बताया कि हालांकि मोदी और संघ प्रमुख मोहन भागवत के बीच बैठक का कोई आधिकारिक कार्यक्रम नहीं है। दोनों बड़े नेता एक साथ धार्मिक नगरी हैं तो कुछ भी हो सकता है।

आरएसएस प्रमुख रविवार को छह दिन लंबे प्रचारक वर्ग सम्मेलन के लिए यहां पहुंचेंगे। मोदी एक दिन बाद सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा करेंगे। इस दौरान 2400 करोड़ रुपए से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे।

सूत्रों ने बताया कि आरएसएस की बैठक शहर के हरहुआ इलाके में एक निजी कॉलेज परिसर में आयोजित की जाएगी जहां भैयाजी जोशी, मनमोहन वैद्य, दत्तात्रेय होस्बोले समेत कई वरिष्ठ आरएसएस कार्यकर्ता छह दिनों के लिए प्रचारक वर्ग सम्मेलन में मौजूद रहेंगे।

संघ प्रमुख राम मंदिर, हिंदुत्‍व, महाकुंभ, लोकसभा चुनाव के अलावा प्रवासी भारतीय सम्‍मेलन में आने वाले भारतीय मूल के लोगों को सांस्‍कृतिक राष्‍ट्रवाद समझाने की तरीकों आदि पर मंथन करेंगे।

दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने निर्वाचन क्षेत्र की पांच घंटे लंबी यात्रा के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की मौजूदगी में एक जनसभा को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री काशी के दौरे में जल परिवहन के सबसे प्रमुख मल्‍टी मॉडल वाराणसी टर्मिनल, रिंग रोड, बाबतपुर फोरलेन के लोकार्पण समेत 2400 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे। ये सभी काम पूरे हो गए हैं। करीब पांच घंटे अपने संसदीय क्षेत्र में रहेंगे।

मोदी के दौरे को सफल बनाने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की मौजूदगी में प्रधानमंत्री देश में पहली बार रामनगर में नव निर्मित मल्टी मॉडल टर्मिनल से जलमार्ग कार्गो सेवा (रवीन्द्रनाथ टैगोर) काे हरी झंड़ी दिखाकर रवाना करेंगे। माल ढुलाई वाहन 1318 किलोमीटर की दूर तय करने के बाद कोलकाता से शुक्रवार वाराणसी को पहुंचा है। इसमें बहुराष्ट्रीय कंपनी के 16 कंटेनर लगे हैं।

नया मल्टी मॉडल टर्मिनल 201 करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया है जिसमें दो हेलीपैड और अन्य सुविधाएं भी होंगी। योगी ने गुरूवार और शुक्रवार को प्रधानमंत्री के दौरे के तैयारियों की वाराणसी समीक्षा बैठक की।