गठबंधन के नेता ही नहीं मानते राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार: मोदी

PM Modi attack rahul ghandi on PM's post
PM Modi attack rahul ghandi on PM’s post

थेनी । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा कि उन्हें उनके गठबंधन के नेता ही प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार स्वीकार नहीं कर रहे हैं, क्योंकि वे सभी खुद इस पद पर आसीन होना चाहते हैं।

मोदी ने अखिल भारतीय अन्ना द्रमुक मुनेत्र कषगम-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन द्वारा आयोजित चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शनिवार को यहां कहा, “कुछ दिन पहले द्रविड़ मुनेत्र कषगम के अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने ‘नामदार’ को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर प्रस्तावित किया था, लेकिन कोई इसे स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हुआ। यहां तक कि उनके ‘महा मिलावटी’ दोस्त भी इस पर रजामंद नहीं हुए क्योंकि वे सभी प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस, द्रमुक तथा उनके अन्य ‘महा मिलावटी’ दोस्त कभी भी देश का विकास नहीं कर सकते हैं। उन्होंने पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम पर तंज कसते हुए कहा कि जब पिता देश का वित्त मंत्री बना तो बेटे (कार्ति चिदम्बरम) ने देश को लूटा।” उन्होंने कहा, “जब वे लोग सत्ता में थे, तो हमेशा लूटने में व्यस्त थे। अब सभी भ्रष्ट लोग इकट्ठा होकर मुझे हराने का प्रयास कर रहे हैं।”

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और बेईमानी सबसे अच्छे दोस्त हैं लेकिन गलती से पार्टी ने सच बोल दिया है। उन्होंने कहा, “अब वे लोग कह रहे हैं कि ‘अब होगा न्याय’ यानी वे लोग यह मान रहे हैं कि अभी तक उन्होंने ‘न्याय’ नहीं किया है।” उन्होंने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ पर गरीबों के पैसे चुनाव प्रचार पर खर्च करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मध्य प्रदेश सरकार उनके (कांग्रेस के) लिए एटीएम मशीन बन गयी है।

उन्होंने कहा, “वे लोग गरीबों और बच्चों के कल्याण के लिए खर्च होने वाले पैसे को चुनाव प्रचार में खर्च कर रहे हैं।” उन्होंने कहा, “यह ‘तुगलक रोड स्कैंडल’ के नाम से विख्यात हो गया है और यह सभी लोग जानते हैं कि नयी दिल्ली स्थित तुगलक रोड पर कांग्रेस का कौन नेता रहता है।”

मोदी ने कांग्रेस की ‘न्याय’ योजना पर सवाल उठाते हुए कहा, “ मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि 1984 के सिख दंगा पीड़ितों के साथ न्याय कौन करेगा?” उन्होंने कहा, “ महान नेता एम जी. रामचंद्रन तथा करुणानिधि जी की सरकारों के साथ न्याय कौैन करेगा, जिन्हें सिर्फ इसलिए बर्खास्त कर दिया गया क्योंकि एक परिवार उन्हें पसंद नहीं करता था। कांग्रेस के शासनकाल में हुई दुनिया की सबसे भीषण गैस त्रासदी भोपाल गैस पीड़ितों के साथ न्याय कौन करेगा? ”

उन्होंने कांग्रेस और द्रमुक पर हमला किया और कहा कि पुरानी कटुता के बावजूद कांग्रेस और द्रमुक आज लोगों को भ्रमित करने के लिए एक साथ आयी हैं। उन्होंने कहा, “ भ्रष्टाचारियों का गिरोह मुझे हराने के लिए इकट्ठा हुआ है। जो कट्टर दुश्मन थे आज वे तमिलनाडु की जनता के आंख में धूल झोंकने के लिए एक साथ आए हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “ जिन्हें वर्ष 1979 की घटना याद होगी, उन्हें पता है कि कांग्रेस ने किस तरह से द्रमुक को अपमानित करने का काम किया था।” उन्होंने कहा कि आज भारत लगातार दुनियाभर में अपनी पहचान बना रहे है, लेकिन कांग्रेस, द्रमुक तथा उनके ‘महा मिलावटी’ दोस्त यह स्वीकार नहीं कर सकते हैं क्योंकि वे लोग मुझसे खुश नहीं हैं।

उन्होंने कहा, “हम लोग नये भारत के सपने के साथ आगे बढ़ रहे हैं। भारत में आज सैनिक से लेकर किसात तक सुरक्षित, खुशहाल और इज्जत के साथ जिंदगी व्यतीत कर सकता है।” उन्होंने कहा, “दशकों से किसान अपनी फसल की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य मांग रहा था। हमने (भाजपा) ने इस मांग को पूरा किया है।” उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत तमिलनाडु के लाखों किसान अब प्रत्येक वर्ष चार हजार करोड़ रुपये प्राप्त कर रहे हैं।

मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा की चर्चा करते हुए कहा कि इस मामले में किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा,“ जब बात राष्ट्रीय सुरक्षा की होती है तो इस पर किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जा सकता। मैं अपने भारतीय भाइयों को आश्वस्त करता हूं कि हम भारत की सुरक्षा तथा आतंकवाद के ताकतों को विध्वंश करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ूंगा। ”

प्रधानमंत्री ने कहा, “अब यह आप पर है कि आप निर्णय करें। हमारे बहादुर जवानों की ओर से किये गये सर्जिकल स्ट्राइक तथा हवाई हमले पर सवाल करने वालों से आप कैसे निपटेंगे? आप सशस्त्र बलों को कमजाेर करने वालों से कैसे निपटेंगे। आतंकवाद को प्रायोजित करने वालों से आप कैसे निपटेंगे।”

उन्होंने कहा, “ जब बहादुर भारतीय लड़ाकू पायलट (अभिनंदन) को पाकिस्तान ने अपने कब्जे में ले लिया था, तब उनकी रिकॉर्ड समय में स्वदेश घर वापसी सुनिश्चित की गयी। तब भी कांग्रेस हमारे बलों काे अपमानित करते हुए हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर राजनीति का खेल खेलने में व्यस्त थी।”

मोदी ने कहा, “ हम आज जलियांवाला बाग नरसंहार के 100 वर्ष पूरा होने का शोक दिवस मना रहे हैं। मैं इस नरसंहार के शहीदों के प्रति सम्मान व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।”

उन्होंने थेनी संसदीय सीट से कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व केंद्रीय मंत्री ईवीकेएस इलानगोवन को ‘बाहरी’ करार दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस सीट पर इस इलाके से आने वाला एक उम्मीदवार तक ढूंढ़ने में नाकाम रही। भाजपा नेता तमिलनाडु के इस सीट पर अपने गठबंधन सहयोगी अन्नाद्रमुक उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार करने यहां आये थे।