मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक घोटाले पर चुप्पी तोड़ी, पढें क्या बोले

pm modi breaks silence over pnb nirav modi fraud case and warns of stern action

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक घोटाले पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि आर्थिक मामलों से जुड़ी अनियमितताओं को लेकर सरकार गंभीर है और इनके खिलाफ कड़े कदम उठाए जा रहे हैं तथा जनता की कमाई की इस तरह की लूट को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

मोदी ने यहां वैश्विक व्यापार सम्मेलन में अपने संबाेधन में हाल ही में बैंकिंग क्षेत्र में हुए घोटालों का जिक्र करते हुए कहा कि आर्थिक मामलों से जुड़ी अनियमितताओं में यह सरकार कड़ेे कदम उठा रही है और आगे भी यही प्रकिया जारी रहेगी। जनता की कमाई की इस तरह की लूट को यह तंत्र बर्दाशत नहीं करेगा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र की मौजूदा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार देश की ही नहीं बल्कि विश्व की अर्थव्यवस्था को भी मजबूती दे रही है और विश्व पचास खरब डालर की अर्थव्यवस्था को विकसित करने के भारत के लक्ष्य के बारे में बात कर रहा है और कोई भी देश उसके कमजोर पांच स्तर की बात नहीं कर रहा है।

उन्होंने कहा कि चार वर्ष पहले जब भी भारत के बारे में बात होती थी तो उसे कमजोर अर्थव्यवस्था वाले पांच देशों में गिना जाता था लेकिन अब विश्व भारत के पचास खरब डालर वाली अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य के बारे में बात कर रहा है और उसके कमजोर अर्थव्यवस्था वाले स्तर के बारे में कोई चर्चा नहीं हो रही है। आज विश्व भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना चाहता है। राजग सरकार बनने के बाद से पिछले चार वर्षों में भारत में 209 अरब डॉलर का विदेशी निवेश हुआ है।

मोदी ने कहा कि पिछले तीन चार वर्षों में भारत ने न केवल अपनी बल्कि विश्व की अर्थव्यवस्था को भी मजबूती दी है और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा काेष के आंकडों के अनुसार वर्ष 2013 में विश्व के सकल घरेलू उत्पाद में भारत का योगदान 2.4 प्रतिशत था जो अब बढ़कर 3.1 हाे गया है।

उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति की दर पर भी काबू पाया गया है और वृद्धि दर भी ऊंची हुई है और इसी वजह से रूपए के प्रदर्शन में भी सुधार हुआ है। मोदी ने एक बार संसद और राज्य विधानसभाआें के चुनावों को एक साथ कराए जाने की वकालत करते हुए कहा कि इस मसले को केवल राजनीतिक वर्गों तक बहस के लिए नहीं छोड़ा जाना चाहिए।