मोदी ने हर्षिल में जवानों के साथ मनाई दीपावली, केदारनाथ की पूजा की

PM Modi celebrates Diwali with soldiers in Harsil in uttarakhand, offers prayers at Kedarnath
PM Modi celebrates Diwali with soldiers in Harsil in uttarakhand, offers prayers at Kedarnath

हर्षिल/ केदारनाथ। प्रत्येक साल सैनिकों के साथ दीपावली मनाने वाले देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार उत्तराखंड में चीन सीमा के निकट उत्तरकाशी जिले के हर्षिल में सेना के जवानों के साथ दिवाली मनाई।

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर कुछ जवानों को अपने हाथों से मिठाई खिलाई और उन्हें बधाई दी। उन्होंने स्थानीय ग्रामीणों को किसी भी समस्या पर दिल्ली आकर उनसे मिलने को कहा।

दीपावली मनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 7.55 पर हर्षिल पहुंचे। जहां हेलीपैड के निकट गंगा किनारे छोटे शिव मंदिर में उन्होंने पूजा-अर्चना कर सलिल गंगा को प्रणाम किया। इसके बाद वह महार रेजीमेंट के शिविर पहुंचे। जहां जवानों ने उनका भव्य स्वागत किया।

मोदी ने सेना के जवानों को दीपावली की बधाई दी और मिठाई खिलाई। वह यहां भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (आइटीबीपी) के अधिकारियों और जवानों से भी मिले और उन्हें भी दीपावली की बधाई दी। इसके बाद प्रधानमंत्री सेना के स्थानीय सभागार में पहुंचे, जहां उन्होंने जवानों से संवाद किया। उन्होंने चीन सीमा से जुड़े महत्वपूर्ण पहलुओं पर सैन्य अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की।

प्रधानमंत्री ने सेना और आईटीबीपी के जवानों को संबंधित करते हुए कहा कि रक्षा के क्षेत्र में भारत उन्नति के पथ पर है। भारतीय सेना को संयुक्त राष्ट्र शांति अभियान में पूरे विश्व से प्रशंसा मिल रही है। सेना के जवान लोगों में सुरक्षा और निडरता की भावना फैलाते हैं। जवान 125 करोड़ भारतीयों के भविष्य और सपनों की सुरक्षा करते हैं।

मोदी से मिलने के लिए हर्षिल और बगोरी ग्राम के ग्रामीण भी पहुंचे थे। बगोरी के प्रधान भवान सिंह के नेतृत्व में ग्रामीणों ने भेड़ की ऊन से बनाई गई शाल प्रधानमंत्री को भेंट की जबकि गांव की महिलाओं ने उन्हें पुष्प दिए।

प्रधानमंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि वे अपनी समस्या को लेकर उनसे मिलने के लिए दिल्ली आ सकते हैं। वहां से पूर्वाह्न 09.15 बजे मोदी बाबा केदारनाथ धाम के लिए रवाना हुए जहां उनका स्वागत राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने किया। हेलीकॉप्टर से मंदिर तक जाने के दौरान उन्होंने धाम के पुनर्निर्माण कार्यों की राज्य के मुख्य सचिव से जानकारी ली।

मंदिर में प्रधानमंत्री ने करीब 15 मिनट पूजा-अर्चना की। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और सांसद रमेश पोखरियाल तथा प्रदेश भाजपा प्रभारी श्याम जाजू भी प्रधानमंत्री के साथ रहे। पूजा के बाद उन्होंने तीर्थ पुरोहितों, पंडा समाज और निर्माण कार्य में लगे लोगों से बात की। मुख्यमंत्री ने मोदी को उनकी मां का एक चित्र भेंट किया।