परिवारवाद और सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की जिम्मेदार है कांग्रेस : मोदी

PM Modi hits out at Congress in Azamgarh, asks is the party only for muslims

आजमगढ़। पूर्वी उत्तर प्रदेश के विकास के प्रति भारतीय जनता पार्टी सरकार की कटिबद्धता दोहराते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर परिवारवाद को बढावा देने और सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास के बाद मंदुरी हवाई पट्टी प्रांगण में एक जनसभा को भी संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस,सपा और बहुजन समाज पार्टी मुस्लिम और दलित वर्ग के हिमायती बनने की कोशिश करते है मगर उन्होंने समाज के इस वर्ग के उत्थान के लिए कुछ नहीं किया। दलित, किसान और गरीब की वोट की बदौलत सत्ता हासिल करने के बाद उन्होने सिर्फ और सिर्फ अपने परिवार का भला किया और तिजोरियां भरी।

कांग्रेस ने हमेशा मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति की है। मैंने अखबार में पढ़ा, कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने कहा, कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है। मैं कांग्रेस पार्टी के नामदारों से पूछना चाहता हूं कि कांग्रेस क्या सिर्फ मुस्लिम पुरुषों की पार्टी है या मुस्लिम महिलाओं की भी पार्टी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि तीन तलाक को कई इस्लामी देशों ने भी मान्यता नहीं दी है। मुस्लिम महिलाओं के प्रति इस संवेदनशील मुद्दे पर कांग्रेस के रवैये ने इसकी पोल खोल दी है। एक तरफ जहां केंद्र सरकार महिलाओं के जीवन को आसान बनाने के लिए प्रयास कर रही है, वहीं कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल मिलकर महिलाओं और विशेषकर मुस्लिम बहनों-बेटियों के जीवन को और संकट में डालने का काम कर रहे हैं।

उन्होने कहा कि गरीब, दलित, पिछडों के उत्थान के नाम पर वोट बटोरने वाले दलों ने सिर्फ और सिर्फ अपने परिवार का भला किया और तिजोरियां भरी। उन्होने कहा कि जो एक-दूसरे को देखना नहीं चाहते थे, अब एक साथ हैं। जितने भी लोग जमानत पर हैं, जितने भी परिवाद वाले लोग हैं वो जनता के विकास को रोकना चाहते हैं।

सभी परिवार पार्टियां मिलकर आपके विकास के रोकने पर तुले हुए है। आपको सशक्त होने से रोकना चाहते हैं। उन्हें पता है कि अगर गरीब, किसान, दलित, पिछड़े सशक्त हो गए तो उनकी दुकान बंद हो जाएगी।

मोदी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश की आशाओं और आकांक्षाओं को नई बुलंदियां देने वाला है। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर 23,000 करोड़ रूपए से ज्यादा खर्च किए जाएंगे। लखनऊ से लेकर गाजीपुर के रास्ते में जितने भी शहर-कस्बे और गांव आएंगे, वहां की तस्वीर बदलने जा रही है।

इस एक्सप्रेस-वे के बन जाने से पूर्वांचल के किसान भाई-बहनों का अनाज, फल, सब्जी, दूध, कम समय में दिल्ली की बड़ी मंडियों तक पहुंच पाएगा। यूपी का किसान हो, पशुपालक हो, बुनकर हो, मिट्टी के बर्तनों का काम करने वाला हो, हर किसी के जीवन को ये एक्सप्रेसवे नई दिशा देने वाला है।

उन्होने कहा कि एक्सप्रेस-वे से दिल्ली से गाजीपुर की दूरी कई घंटे कम हो जाएगी। जाम से निजात मिलेगी। पर्यावरण दुरूस्त होगा। पेट्रोल डीजल की बचत होगी और सबसे महत्वपूर्ण लोगों का बेशकीमती समय बचेगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से सूबे में पर्यटन को बढावा मिलेगा।

इस क्षेत्र में भगवान राम से जुड़े और ऋषि मुनियों से जुड़े महत्वपूर्ण पौराणिक स्थलों का अब अधिक प्रचार-प्रसार हो पाएगा। इससे यहां के युवाओं को अपने पारंपरिक कामकाज के साथ-साथ रोज़गार के नए अवसर भी उपलब्ध होंगे।

प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार आजमगढ़ आए नरेंद्र मोदी ने चिरपरिचित शैली में संबोधन की शुरुआत भोजपुरी से की। उन्होंने कहा कि आज हमरे खातिर बड़ा गौरवशाली दिन बा। तमसा के तटपर आवे के सौभाग्य मिलल। हम बड़े लोगन के पांव लागत हईं।

उन्होंने कहा कि 2014 से पहले देश में जितनी लम्बाई के राष्ट्रीय राजमार्ग थे आज वे दोगुने हो चुके हैं, आजादी से पहले देश में जितना कार्य हुआ था उससे ज्यादा काम चार साल में भाजपा सरकार ने करके दिखाया है। उत्तर प्रदेश में सिर्फ हाईवे ही नहीं, बल्कि वॉटरवे और एयरवे पर भी तेजी से काम चल रहा है। गंगा जी में बनारस से हल्दिया तक चलने वाले जहाज इस पूरे क्षेत्र में औद्योगिक विकास को और आगे ले जाएंगे।

मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के 12 एयरपोर्ट, उड़ान योजना के तहत विकसित किए जा रहे हैं। हवाई चप्‍पल पहनने वाला भी हवाई जहाज में उड सके, इसके लिए सरकार ‘उड़ान योजना’ को तेजी से बढ़ा रही है।

उड़ान योजना के तहत किरायों की बात पर सुनिश्चित किया गया कि एक घंटे के सफर के लिए ढाई हजार से ज्यादा खर्च नहीं करना पडे। इसका नतीजा है कि पिछले साल ट्रेन के एसी में सफर से ज्यादा हवाई जहाज में लोगों ने सफर किया।

उन्होने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के जवान दूसरे प्रदेश में जाकर अपना लोहा मनवा सकते हैं। यदि उन्हें यहीं मौका मिल जाए तो कायापलट कर सकते हैं। पूरब के विकास के बिना न्यू इंडिया की चमक फीकी रह जाएगी। देश के इस पूर्वी हिस्से को विकास का नया कॉरीडोर बनाने का काम किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार बिना भेदभाव सबका विकास की भावना से आगे बढ़ रही हैं। गांवों को विकास का केंद्र बिंदु बनाने पर जोर दिया जा रहा है जिसके तहत ग्रामीण इलाकों में अब तक डेढ़ लाख से ज्यादा वेलनेस सेंटर बनाए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना समेत अन्य सरकारी योजनाओं के तहत गरीबों के लिए एक करोड़ से ज्यादा आवास का निर्माण किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुये श्री मोदी ने कहा कि अपराध और भ्रष्टाचार पर नकेल कस कर राज्य सरकार ने बड़ा निवेश लाने के लिए बड़ा काम किया है। अपराधियों की हालत बेहद पतली है। पहले के दस वर्षों में सूबे की जिस तरह की पहचान बन गई थी, वह बदलने लगी है। जनता का पैसा जनता के लिए खर्च होने लगा है। नई कार्य संस्कृति उत्तर प्रदेश को विकास की नई ऊंचाई ले जाएगी। उन्होने कहा कि मोदी हो योगी, आप ही लोग हमारा परिवार हैं। आपके सपने हमारे सपने हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार देश की, देश के नागरिकों की आवश्यकताओं को समझते हुए योजनाएं बना रही है, फैसले ले रही है। ऐसे फैसले जिनका बरसों से इंतजार था। जिन्हें पहले की सरकारें सिर्फ फाइलों में घुमाती रहीं, उन फैसलों को लेने का काम भी राजग सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य में 200 सौ से लेकर 1800 रुपये तक की वृद्धि की है। योगी सरकार ने टेक्सटाइल सेक्टर के लिए नई नीति बनाई है। एक जिला एक उत्पाद पर काम किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के नाम पर कमीशनखोरी का प्रयास हुआ था। बिना एनओसी के एक्सप्रेस-वे की निविदायें डाली गई। अब 1514 करोड़ कम लागत में एक्सप्रेस-वे का निर्माण होने जा रहा है।

उन्होने कहा कि पहली बार गांव, गरीब किसान और महिलाओं का विकास करने का ईमानदार प्रयास चार सालों में हुआ है। आजादी के बाद प्रधानमंत्री मोदी का नाम मानक बना है। चार साल के दौरान किसी मंत्री पर कोई दाग नहीं लगा है। एक्‍सप्रेस-वे को नेशनल हाईवे के जरिए बलिया होते हुए पटना तक जोड़ा जाएगा। इस एक्‍सप्रेस-वे को गोरखपुर और अयोध्‍या से भी जोडा जाएगा।

इस मौके पर राज्यपाल रामनाईक, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, राज्यमंत्री दारा सिंह के अलावा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय मौजूद थे।