मोदी ने की देश की पहली सी प्लेन सेवा की शुरुआत, ख़ुद भरी उड़ान

केवड़िया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार अपने गृह राज्य गुजरात के नर्मदा ज़िले में केवड़िया, जहाँ दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी स्थित है, से अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट के बीच उड़ान भर कर देश की पहली सी प्लेन सेवा की विधिवत शुरुआत की।

मोदी ने सरदार वल्लभभाई पटेल की 145वीं जयंती पर उनकी 182 मीटर ऊंची प्रतिमा पर पुष्पांजलि और मनोहारी एकता परेड का निरीक्षण करने के बाद यहां तालाब संख्या 3 स्थित वोटर ऐरोड्रोम से उड़ान भर कर इस सेवा की शुरुआत की। जब वह पहाड़ियों से घिरे इस जलीय हवाई अड्डे पर विमान में सवार होने वाले थे उससे पहले उन्हें चालक दल के एक सदस्य ने आपातकालीन सुरक्षा सम्बंधी जानकारी दी और उन्होंने इसे ग़ौर से सुना।

इस सेवा के लिए निजी उड्डयन सेवा प्रदाता कम्पनी स्पाइस जेट 19 सीटों वाले एक विमान का इस्तेमाल कर रही है जिसमें शुरुआत में 12 सीटों का इस्तेमाल किया जा रहा है। यह केवड़िया और अहमदाबाद के बीच की लगभग 200 किमी की दूरी सड़क मार्ग के क़रीब 4 घंटे की बजाय मात्र 45 मिनट में तय करेगी। केंद्र सरकार की उड़ान योजना के तहत शुरू होने वाली इस योजना के लिए इसी साल जुलाई में केंद्र, राज्य और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के बीच त्रिपक्षीय समझौता हुआ था।

स्टेच्यू ऑफ़ यूनिटी और और अहमदाबाद के साबरमती नदी रिवरफ्रंट दोनों मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट रहे हैं। आधिकारिक सूचना के अनुसार शुरुआत में दोनों के बीच इस सी प्लेन सेवा के दो दैनिक फेरे रखने की योजना है। किराया एक तरफ़ से प्रति व्यक्ति 1500 रुपए होगा।

पानी और ज़मीन दोनों से उड़ान भरने में सक्षम इस विमान को कनाडा में बनाया गया है और इसे स्पाइस जेट मालदीव से ख़रीद कर यहां लाई है। आम विमान की तुलना में काफ़ी नीचे उड़ने वाले इस विमान का वज़न 3377 किलो है और यह 5570 किलो वज़न उठा सकता है।