कर्नाटक सरकार कौन चला रहे हैं, मोदी ने उठाया सवाल

हुबली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक की जनता दल(सेक्युलर)-कांग्रेस की गठबंधन सरकार चलाने को लेकर सवाल खड़े करते हुए रविवार को कहा कि इस सरकार को मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी चला रहे हैं अथवा कोई और जिसे लेकर मुख्यमंत्री कहते आ रहे हैं कि वह गठबंधन सहयोगी कांग्रेस के दबाव में हैं।

मोदी ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कुमारस्वामी एकांत में रो रहे हैं। वह अपने गठबंधन सहयोगी द्वारा एक ‘पंचिंग बैग’ बना दिए गए हैं। सरकार कौन चला रहा है, जिसके बारे में मुख्यमंत्री को भी नहीं मालूम।

उन्होंने रैली में मौजूद जनता से सवाल भी किया कि वे कर्नाटक में मजबूर माडल जैसी सरकार चाहते हैं या केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन जैसी मजबूत सरकार। उन्हाेंने कहा कि राज्य में रिसोर्ट राजनीति तेजी से फैली है और मुख्यमंत्री इसे आगे बढ़ा रहे है तथा सारा देश इस सरकार पर हंस रहा है। उन्होंने कहा कि हम चाहते थे कि कर्नाटक देश में एक रोल माडल के रूप में उभरे, लेकिन आप देख रहे हैं कि यहां क्या हो रहा है।

उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों के लिए कर्ज माफी योजना केवल वोट बैंक सुरक्षित रखने के लिए की गई थी। मुख्यमंत्री ने 43 लाख किसानों को इसका लाभ देने की घोषणा की थी, लेकिन अब तक केवल 60 हजार किसानों को इसका फायदा दिया गया। उन्होंने कहा कि राजग सरकार प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत किसानों के बैंक खातों में प्रत्येक वर्ष छह हजार रूपए स्थानांतरित करने संबंधी अपनी घोषणा को लेकर प्रतिबद्ध है।

केंद्रीय बजट में कल्याणकारी उपायों के संदर्भ में मोदी ने कहा कि यह चौकीदार बिचौलियों की भूमिका को समाप्त करने के प्रयासों के तहत सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में पैसे स्थानांतरित कर रहा है, लेकिन भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाले लोग इसे पसंद नहीं कर रहे हैं।

बसंत पंचमी को मौसम में बदलाव का संकेत निरुपति करते हुए मोदी ने कहा कि कर्नाटक में मौसम (राजनीतिक) बदल रहा है और हो सकता है कि यहां की सरकार समय से पहले ही गिर जाए। उन्होंने कहा कि आज बसंत पंचमी है। मौसम बदल रहा है। कर्नाटक सरकार के लिए भी ऐसा ही होगा, जहां गठबंधन सहयोगी आपस में लड़ रहे हैं और जनता नाराज है।

उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार के नेता पूरे समय अपनी कुर्सी बचाने में जूझ रहे हैं और जनता इनके झटके खा रही है। मुख्यमंत्री भ्रमित हैं। यही कारण है कि वे रोते रहते हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि देश की जनता को ऐसी कमजोर सरकार चाहिए अथवा मजबूत और स्वच्छ प्रशासन। अगर महागठबंधन सत्ता में आती है तो समूचे देश की जनता को ऐसा ही सामना करना पड़ेगा जैसा कि कर्नाटक के मेरे भाई और बहनें कर रही है।

प्रधानमंत्री ने तुमकुरू के सिद्दागंगा मठ के शिवकुमार स्वामीजी को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिनका हाल ही में निधन हो गया था। उन्होंने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी रहे एचएन अनंत कुमार को भी श्रद्धांजलि अर्पित की। हुबली निवासी अनंत कुमार का कुछ दिन पहले बेंगलुरू में निधन हो गया था।