कश्मीर में शांत है माहौल, चिंता न करें राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में जम्मू-कश्मीर को लेकर प्रस्ताव पास करने के थोड़ी देरे बाद सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी तथा जम्मू-कश्मीर सरकार ने राज्य की स्थिति बिगड़ने के कांग्रेस के दावे को खारिज कर दिया और कहा कि राज्य की स्थित शांत है और लोगों को प्रायोजित खबरों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

भाजपा के एक सूत्र ने कहा कि राज्य में शांति है। लोग मिलकर काम करने वाले हैं और प्रतिबंधों में छूट दी जा रही हैं। श्रीनगर तथा अन्य शहरों में वाहन चल रहे हैं और लोग आज ईद की खरीदारी में व्यस्त हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक ने लोगों से मनगढ़ंत तथा प्रायोजित खबरों पर विश्वास नहीं करने की अपील की है।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस कार्य समिति की बैठक के बीच में बाहर पार्टी नेता राहुल गांधी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति अच्छी नहीं है। साथी पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने शक्ति के साथ कार्रवाई करना, खबरों पर बंदिश लगाने और लोगों की गिरफ्तार करने तथा राजनेताओं को हिरासत में लेने की घटनाओं पर गंभीर चिंता जताई।

नए कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के लिए पार्टी कार्य समिति की बैठक से बीच में बाहर आए पार्टी नेता राहुल गांधी ने संवाददतााओं से कहा कि ऐसी रिपोर्टें आई हैं कि जम्मू कश्मीर में हालात बहुत खराब हो गए हैं। वहां हिंसा होने की खबरें हैं। बैठक में जम्मू कश्मीर के बारे में चर्चा की गई और इस पर ‘प्रजेंनटेशन’ दिया गया।

उन्होंने कहा कि बहुत जरूरी है कि प्रधानमंत्री और सरकार पारदर्शिता से देश को बताएं कि जम्मू कश्मीर में वास्तव में क्या हो रहा है। वहां स्थिति नियंत्रण में है या कैसी है।

बैठक के बाद पार्टी महासचिव के सी वेणुगोपाल तथा पार्टी के मीडिया प्रभारी रणदीपसिंह सुरजेवाला ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कार्य समिति की बैठक में एक प्रस्ताव पारित कर ‘जम्मू कश्मीर में कड़ी कार्रवाई और समाचारों के नहीं आने’ पर चिंता जताई गई।

विभिन्न दलों के नेताओं को गिरफ्तार करने पर भी चिंता व्यक्त की गई। प्रस्ताव में सरकार से अनुरोध किया गया कि वह जम्मू कश्मीर मेंं स्थिति का मौके पर जायजा लेने के लिए साझा प्रतिनिधिनि मंडल भेजे।