सर्जिकल स्ट्राइक का भाजपा ले रही है राजनीतिक फायदा: कांग्रेस

Political advantage of BJP taking surgical strike: Congress
Political advantage of BJP taking surgical strike: Congress

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री कार्यालय पर रणनीति के तहत सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियाे जारी करने का आरोप लगाते हुए आज आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार सर्जिकल स्ट्राइक की परंपरा और परिपार्टी को तोड़कर इसका राजनीतिक और चुनावी फायदा लेने का प्रयास कर रही है।

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सूरजेवाला ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि मोदी सरकार ‘जय जवान जय किसान ‘ के नारे का राजनीतिक इस्तेमाल कर रही है और सर्जिकल स्ट्राइक की वीर गाथा के सहारे वोट पाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा सेना की इस कार्रवाई का चुनावी फायदा लेने की घोषणा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पहले ही कर दिया था। भाजपा का यह प्रयास शर्मनाक है और परंपरा को तोड़ने वाला है।

उन्होंने कहा कि भाजपा को याद रखना चाहिए कि सैनिकों के बलिदान का राजनीतिक लाभ नहीं लिया जाना चाहिए लेकिन वह लगातार ऐसा करने का प्रयास कर रही है और इस क्रम में उसने उत्तर प्रदेश चुनाव के दौरान प्रेस कान्फेस, विज्ञापनों, पोस्टरों और होर्डिग्स के जरिये सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय सेना के बजाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को दिया।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार सैनिकों के बलिदान और सर्जिकल स्ट्राइक का फायदा लेने के लिए हर हथकंडा अपना रही है लेकिन पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद को राेकने के लिए उनके पास कोई नीति नहीं है। इसी का परिणाम है कि सितंबर 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारतीय सेना के 146 जवान शहीद हुए हैं और पाकिस्तान ने 1600 से अधिक बार नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया अौर 79 आतंकवादी हमलों को अंजाम दिया।

उन्होंने मोदी सरकार पर सेना को लेकर दोहरी नीति अपनाने और खोखली बातें करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस सरकार ने लगातार रक्षा बजट को कम किया है और चालू वित्त वर्ष में इसे 1962 के रक्षा बजट से भी कम कर दिया है जिससे सुरक्षा बलों को दुश्मन का मुकाबला करने के लिए अत्याधुनिक हथियार उपलब्ध कराने में दिक्कतें आ रही है और देश की सुरक्षा का बुनियादी ढांचा खतरे में पड़ता दिखाई दे रहा है।

प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस के शासन में कई बार सर्जिकल स्ट्राइक हुए हैं और पिछले सर्जिकल स्ट्राइक का भी तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इसका समर्थन करते हुए कहा था कि आतंकवादियों के मंसूबों को विध्वंस करने के लिए उठाए गए कदमों का पार्टी पूरा समर्थन करती है।