प्रदूषण की मात्रा सर्दियों में ज्यादा होती है या गर्मियों में

प्रदूषण की मात्रा सर्दियों में ज्यादा होती है या गर्मियों में
प्रदूषण की मात्रा सर्दियों में ज्यादा होती है या गर्मियों में

प्रदूषण की मात्रा सर्दियों में ज्यादा होती है या गर्मियों में : कौन से मौसम में प्रदूषण अधिक होता है सर्दियों में या गर्मियों में यह सवाल आप में से अधिक लोगों के मन में आता होगा कि आखिर सबसे अधिक प्रदूषण कब होता है कई लोगों का मानना है गर्मियों में प्रदूषण अधिक होता है और कई लोगों का यह मानना है की प्रदूषण सर्दियों में गर्मियों में दोनों में बराबर ही होता है।

यदि बात करें हम एक शोध की तो एक शोध के अनुसार यह बात सही है कि प्रदूषण की मात्रा सर्दी और गर्मी दोनों में बराबर ही होती है लेकिन सर्दियों में प्रदूषण का पता नहीं चलता क्योंकि ठंड इतनी अधिक होती है टेंपरेचर इतना अधिक कम होता है की प्रदूषण वातावरण में पूरी तरीके से घुलता नहीं है। वह एक जगह जम जाता है इसका मतलब यह नहीं है कि प्रदूषण अधिक नहीं हो रहा प्रदूषण होता है लेकिन वातावरण में जमने से आप लोगों को पता नहीं चलता।

और इसके चलते आपको लगता है कि गर्मियों में प्रदूषण अधिक होता है और सर्दियों में कम अगर बात करें बारिश के मौसम के बारिश के मौसम में बारिश अधिक होने से प्रदूषण पर एक दबाव पड़ता है और इससे प्रदूषण की मात्रा में कमी आती है लेकिन यह नाकाम नहीं होता जैसे ही बारिश का दबाव कम होता है प्रदूषण फिर से उसी गति से बढ़ने लग जाता है।

लेकिन जब सर्दियों में प्रदूषण ठंड की वजह से दब जाता है तो आपको प्रदूषण महसूस नहीं होता लेकिन प्रदूषण होता जरूर है और इसके चलते हैं आपको कई प्रकार की तकलीफ होना शुरू होती है जैसे छोटा-मोटा जुखाम लग जाना भी सर्दी के पोलूशन का उदाहरण है इसमें आपको सांस लेने में तकलीफ भी होती है और कई बार किसी को गले की समस्या होने लग जाती है जैसे टॉन्सिल्स भी कहते हैं।

जितना हो सके सर्दियों में पीने का पानी गर्म ही इस्तेमाल करें जिससे आपकी शरीर में रक्त का संचार तेज गति से हो क्योंकि गर्म पानी आपके शरीर में जाने के बाद जल्दी से जल्दी भूल जाता है और यह रक्त संचार को बढ़ाता है।